वर्ल्ड युनिवर्सिटी ऑफ डिज़ाइन ने डॉ. संजय गुप्ता को पहला कुलपति नियुक्त किया

डॉक्टर संजय गुप्ता को रचनात्मक क्षेत्र में शिक्षा के लिए समर्पित भारत की पहली और एकमात्र युनिवर्सिटी- वर्ल्ड युनिवर्सिटी ऑफ डिज़ाइन (डब्ल्यूयूडी), सोनीपत का पहला कुलपति नियुक्त किया गया है. उन्होंने 27 फरवरी, 2018 से कुलपति का प्रभार संभाल लिया है.

डॉक्टर गुप्ता अकादमिक जगत के एक अनुभवी व्यक्ति हैं जिन्होंने पिछले 30 वर्षों से देश में डिज़ाइन शिक्षा के क्षेत्र में कई उपलब्धियां हासिल की हैं. अपनी अनूठी दूरदृष्टि और एकीकृत शिक्षा को लेकर जुनून के साथ उन्होंने डिज़ाइन क्षेत्र की मौजूदा और भावी मांगों को पूरा करने के लिहाज़ से पाठ्यक्रमों को डिज़ाइन कर इस देश में डिज़ाइन, कला और प्रौद्योगिकी के बीच अंतर को सफलतापूर्वक खत्म किया है. वह आईआईटी दिल्ली और आईआईएम अहमदाबाद के विद्यार्थी रहे हैं और न्यूयार्क के फैशन इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी (एफआईटी) में यूएनडीपी के फेलो के तौर पर प्रशिक्षण लिया है।

Dr. Sanjay Gupta
Dr. Sanjay Gupta

कुलपति नियुक्त किए जाने पर डॉक्टर संजय गुप्ता ने कहा, श्डब्ल्यूयूडी का संस्थापक कुलपति नियुक्त किए जाने पर मैं सम्मानित महसूस कर रहा हूं और भारत में डिज़ाइन शिक्षा के उभरते क्षेत्र में आरंभ से उत्कृष्टता का एक संस्थान तैयार करने का यह अवसर देने के लिए मैं प्रबंधन का आभार प्रकट करना चाहूंगा.

डॉक्टर गुप्ता ने कहा, डब्ल्यूयूडी में रचनात्मक कार्यक्रम जिस तरह से पढ़ाए जाते हैं और जिस प्रकार से उन्हें व्यवहार में लाया जाता है, उसके तरीके में एक नया दृष्टिकोण लाया जाएगा जिसके लिए डिज़ाइन को एक ट्रांसडिसिप्लिनरी प्रक्रिया के तौर पर लिया जाएगा जिसमें वैज्ञानिक, तकनीकी और कलात्मक परख की पद्धतियों को मानव एवं व्यवहारिक जरूरतों की समझ के साथ एकीकृत किया जाता है. इससे पर्यावरण के लगभग किसी भी भी पहलू में बदलाव लाया जा सकता है और उसे प्रभावी बनाया जा सकता है. डब्ल्यूयूडी के कुलपति के तौर पर मेरी आकांक्षा डब्ल्यूयूडी को दक्षिण पूर्व एशिया में अवश्य जाने वाला स्थल बनाने की है”

डब्ल्यूयूडी में शामिल होने से पहले उन्होंने निफ्ट दिल्ली में अब तक का पहला टेक्सटाइल डिज़ाइन विभाग स्थापित किया और नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ फैशन टेक्नोलॉजी में डीन (अकादमिक) की हैसियत में देशभर में विभिन्न निफ्ट केंद्रों की स्थापना में अहम भूमिका निभाई. वह दुनियाभर के फैशन स्कूलों का एक मुख्य संगठन इंटरनेशनल फाउंडेशन ऑफ फैशन टेक्नोलॉजी इंस्टीट्यूट्स स्थापित करने की पहल में शामिल रहे. इसके बाद उन्होंने गुड़गांव में जीडी गोयनका युनिवर्सिटी में स्कूल ऑफ डिज़ाइन की स्थापना की.

वर्ल्ड युनिवर्सिटी ऑफ डिज़ाइन के बारे में

वर्ल्ड युनिवर्सिटी ऑफ डिजाइन दिल्ली एनसीआर में डिजाइन एवं नवप्रवर्तन से जुड़ी गतिविधि के एक प्रमुख केंद्र के तौर पर उभर रही है. भारत की पहली डिजाइन युनिवर्सिटी के तौर पर स्थापित और सभी पारंपरिक सोच को बदलते हुए डब्ल्यूयूडी ने सही मायने में विभिन्न रचनात्मक क्षेत्रों को एक ही जगह पर लाने का काम किया है. शिक्षा, प्रशिक्षण और अनुसंधान के जरिये आज की जरूरतों को पूरा करने के लिए वर्ल्ड युनिवर्सिटी ऑफ डिज़ाइन को क्षेत्रीय और राष्ट्रीय स्तर पर औद्योगिक एवं नवप्रवर्तन गतिविधियों में डिज़ाइन के मोर्चे पर तेज़ी लाने के उद्देश्य से स्थापित किया गया है।

वीडियो के जरिए देखे सियासत पर भारी थप्पड़

और अधिक खबरें

किच्छा में मनाया गया होली का पर्व

भाजपा नेता की पुलिस प्रशासन को धमकी, खड़ें हुए कई सवाल

होली से पहले तंत्र-मंत्र के कारोबार ने पकड़ा जोर

अपने पीछे इतनी दौलत छोड़ गई श्रीदेवी

मध्यप्रदेश उपचुनाव परिणाम 2018: मुंगावली सीट पर कांग्रेस की जीत, कोलारस में भी बढ़त बनाए हुए कांग्रेस

आंगनवाड़ी केंद्र मकरंदपुर प्रथम में छोटे बच्चों ने मनाई होली

पुलिस ने की अमन कमेटी के साथ बैठक, होली और जुमे की नमाज़ को लेकर हुई चर्चा

मेरठ में दिल दहला देने वाला मामला, युवती पर डाला तेजाब

श्रीदेवी को दी गई मुखग्नि

दिल्ली के दिल में दिनदहाड़े हुई फायरिंग, 1 शख्स घायल

परंपरागत साधु-संतों से अलग थे जयेंद्र सरस्वती, कई बार विवादों में भी रहे

अलविदा श्रीदेवी : मौत के पीछे छुपा राज

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here