यूपी: प्रदर्शन कर रहे थे परिजन, पिट गई पुलिस !

पीलीभीत: पुलिस की उस वक्त जमकर पिटाई हुई जब बिलसण्डा थाना क्षेत्र के करेली गांव के पास परिजन अपनी गर्भवती बेटी का शव रखकर प्रदर्शन कर रहे थे. परिजनों का आरोप था कि ससुराल वालों ने उनकी बेटी की गला दबाकर हत्याकर उसे फंदे से लटका दिया था. सूचना पर गांव पहुंचे मायकेवालों ने फंदे से शव उतारकर पुलिस को सूचना दी.

पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिये भेजा जिसके बाद पुलिस मायके वालों को उनकी बेटी का शव नहीं दे रहे थे. उत्तेजित ससुराल वालों ने बिलसण्डा-करेली मार्ग पर जाम लगाया जिसके बाद जाम खुलवाने गयी पुलिस की जमकर पिटाई हुयी. पीलीभीत के थाना बिलसण्डा के गांव करेली रहने वाले शेखर के साथ शाहजहांपुर के तिलहर कोतवाली क्षेत्र के खिरिया मार गांव की नीरज के साथ 7 माह पूर्व हुयी थी. मायके वालों को सोमवार को खबर मिली कि उनकी बेटी नीरज की लाश घर में लटक रही है. इस पर मायके के लोग करेली पहुंचे. उन्होंने देखा कि घर के अंदर एक कमरे में साड़ी के फंदे से बेटी की लाश लटकी थी.
परिजनों ने शव को उतारा और पुलिस को फोन किया। सूचना पर पहुंची पुलिस ने मौका मुआयना करने के बाद पुलिस ने शव को अपने कब्जे में लिया. घटना के बाद मृतका के पति समेत सभी ससुराली घर से फरार थे. पिता की तहरीर पर पुलिस ने पति, उसके बहनोई, पिता समेत कई लोगों के खिलाफ नामजद मुकदमा दर्ज किया और शव को पोस्टमार्टम के लिए भेजा. मायकेवालों ने बताया कि उन्होंने शादी में करीब एक लाख नकदी, बाइक समेत काफी दहेज दिया. बाइक बेटी के नाम थी. वे काफी दिनों से बाइक को अपने नाम ट्रांसफर कराने के लिए भी बेटी को प्रताड़ित कर रहा था.

दहेज की भी डिमांड कर रहा था. बेटी ने कई बार फोन से प्रताड़ना की बात बताई थी मगर परिजनों ने शांत कर दिया. वहीं आज जब पोस्टमार्टम के बाद मायके वाले शव का इन्तेजार कर रहे थे तो वहीं पुलिस मायके वालों को शव देने में आनाकानी कर रही थी. पुलिस से शव की मांग को लेकर नाराज मायके वालों ने बिलसण्डा-करेली मार्ग पर जाम लगा दिया. सूचना पर एसओ बिलसण्डा चन्द्र प्रकाश शुक्ला थाने की फोर्स संग जाम खुलवाने पहुंचे इसी बीच मायकेवालों और पुलिस में तनातनी हो गयी जिससे बाद मायकेवालों और पुलिस के बीच धक्का-मुक्की व मारपीट हुयी.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here