एक बार फिर शर्मशार हुई यूपी पुलिस

महिला सुरक्षा का दावा करने वाली यूपी सरकार और पुलिस के एक इंस्पेक्टर ने अपने ही विभाग और वर्दी दोनो को शर्मशार करने के अलावा दागदार भी कर दिया है. पुलिस विभाग के इंस्पेक्टर ने अपने ही विभाग की एक महिला कांस्टेबल का पिछले सात सालों से शारीरिक शोषण किया. इंस्पेक्टर ने पिस्टल के बल पर बंधक बनाकर कार में रेप किया और वीडियों भी बना ली. वीडियों को वायरल करने की धमकी देकर इस इंस्पेक्टर ने महिला कांस्टेबल के साथ कई बार यौन शोषण किया.

इस सबसे परेशान महिला कांस्टेबल नें इसकी शिकायत मेरठ के एसएसपी से की. जब जांच कराई गई तो मामले सही पाए जाने पर अरोपी इंस्पेक्टर के खिलाफ यहीं के महिला थाने में एफआईआर दर्ज कराई गई है. पीडित कांस्टेबल नें हाल ही में एसएसपी मंजिल सैनी से मुलाकात कर बताया की 2017 में दीपावली के आसपास इंस्पेक्टर लोकेन्द्र पाल सिंह ने उसे किसी बहाने से हॉस्टल के बाहर बुलाया और फिर कार में बैठने के लिए कहा, लेकिन इंकार करने पर उसे पिस्टल लगाकर गोली मारने की धमकी देकर कार में बैठा कर बंधक बना लिया. इसके बाद आरोपी नें थाना सिविल लाइन क्षेत्र के मेघदूत पुलिया पर कार में रेप किया और साथ ही किसी को कुछ बताने पर गोली मारने की धमकी भी दी.

बताया जा रहा है की यह महिला कांस्टेबल वैसे तो बुलंदशहर की रहने वाली है और हाल में मेरठ में तैनात है. यह वर्ष 2011 में यूपी पुलिस में आर्क्षी पद पर भर्ती हुई थी. उसकी मुलाकात वर्तमान में मुरादाबाद में तैनात इंस्पेक्टर लोकेंद्रपाल से 2010 में बुलंदशहर में हुई थी. आरोपी इंस्पेक्टर नें एक दिन उसे नशीली कोल्ड ड्रिंक पिलाकर बेहोश होने पर रेप किया था. आरोप है की तभी से वह यौन शोषण कर रहा है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here