मदरसे की आड़ में छात्राओं के साथ किया दुष्कर्म, पकड़ा गया आरोपी

भारत में नाबालिग लड़कियों और महिलाओं के योन शोषण का मामला लगातार बढ़ता जा रहा है लेकिन प्रशासन इसको लेकर किसी भी प्रकार का कोई एक्शन नहीं ले रहा है. एक ऐसा ही मामला उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ के मदरसा जामिया खदीजतुल कुबरा लिलबनात का है. इस मदरसे में बहुत समय पहले से ही छात्राओं का यौन शोषण किया जा रहा था,लेकिन मदरसे के मौलवी तैयब जिया के डराने से लड़कियां किसी से भी इस बात का जिक्र नहीं करती थी.

miscreants raped with girls under guise of madrasa arrested  rape, girls, madrasa, arrested, police, lucknow

पुलिस ने बीते गुरुवार को जब मदरसे में छापेमारी की तो वहां की लड़कियों ने एक पत्र लिखकर अपनी दास्तां पुलिसकर्मियों के सामने फेकी. छात्राओं द्वारा फेंकी गई खत में लिखा था कि तैयब जिया छात्राओं को रात में अपने कमरे में बुलाता था और उनके साथ घिनौना काम करता था.

छात्राओं के इस पत्र से शुरू हुई कहानी पर एक्शन लेते हुए एएसपी पश्चिम विकास चंद ने बताया कि इस मदरसे का संचालन लगभग 12 वर्ष पहले शुरू हुआ था. सय्यद अशरफ जिलानी जोकि अपने आप को इस मदरसे का संरक्षक बताते हैं और दावा करते हैं कि उन्होंने यह जमीन खरीद कर मदरसा बनवाया था और इस मदरसे की देख रेख के लिए सैयद जिया को रखा था. काफी लंबे समय से सैयद अशरफ जिलानी को मदरसे में छात्राओं के साथ यौन शोषण की शिकायतें मिल रही थी, इसका संज्ञान लेने के लिए गुरुवार को वहां पहुंचे थे.

सैयद अशरफ जिलानी ने बताया कि पहले मदरसे का नाम अशरफिया मिनाईया था, लेकिन आरोपित ने इस मदरसे के नाम को भी बदल दिया और यहां के काम को भी बदल दिया. मदरसे में बंधक बनी सभी नाबालिग लड़कियों और महिलाओं को मुफ्त करा दिया गया है. मदरसे में बंधक बनी सभी छात्राओं ने बयान दिया है कि उन्हें वहां पर मारा पीटा जाता था और कमरे में बुलाकर उनके साथ गलत काम किया जाता था.

आपको बता दें कि पुलिस ने इस मामले में एफआईआर दर्ज कर ली है और मदरसे के मैनेजर को गिरफ्तार कर लिया है औऱ आगे की कारवाई जारी है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here