जन्मदिन के मौके पर भड़की मायावती, कहा- अपने ही घर से बेघर होने से बचे बीजेपी

सोमवार को बहुजन समाजवादी पार्टी की सुप्रीमो मायावती का 62 वां जन्मदिन है. उनका जन्मदिन काफी धूमधाम से मनाया जा रहा है और बसपा कार्यकर्ताओं में भी खुशी का माहौल है. बसपा की तरफ से सोमवार को जन कल्याणकारी दिवस मनाया जा रहा है. सोमवार को बसपा सुप्रीमो मायावती अपने जीवन पर आधारित किताब के 13वें संस्करण का विमोचन करने वाली हैं. उनकी किताब का नाम ‘मेरे संघर्षमय जीवन और बीएसपी मूवमेंट का सफरनामा’ है जिसे ब्लू बुक का नाम दिया गया है. अपने 62वें जन्मदिन के मौके पर भी मायावती की तरफ से बीजेपी को घेरा गया है.

मायावती ने कहा है कि हर-हर मोदी घर-घर मोदी वाले नरेंद्र मोदी इस बार गुजरात में बेघर होने वाले थे लेकिन वह बाल बाल बच गए हैं. मायावती के अनुसार अगर गुजरात में 18 से भी 20 फ़ीसदी वोट दलितों को मिले होते तो गुजरात में BJP नहीं आ पाती. इस दौरान मायावती ने बीजेपी सरकार पर बड़ा आरोप लगाया है. उन्होंने कहा है कि बीजेपी सरकार संविधान और कानून को बदल देना चाहती हैं लेकिन ऐसा नहीं हो सकता है. कांग्रेस और बीजेपी पर हमला बोलते हुए मायावती का कहना है कि आजादी के बाद दोनों ही पार्टियों ने हर वर्ग के लोगों को काफी घातक नुकसान पहुंचाया है.

आज देश के हर राज्य में सांप्रदायिक और जातिवाद का माहौल पैदा किया जा रहा है. मायावती का मानना है कि बसपा अकेली ऐसी पार्टी है जो दलितों, पिछड़ों, मुस्लिमों और धार्मिक अल्पसंख्यकों के मसीहा बाबासाहेब आंबेडकर के बताए रास्ते पर चल रही है और अंबेडकर वादी पार्टी बसपा को पूंजी वादी सोच वाली पार्टियां बढ़ते हुए नहीं देखना चाहती हैं. सबसे पहले कांग्रेस एंड कंपनी की तरफ से और अब BJP एंड कंपनी की तरफ से बसपा को खत्म करने की कोशिश की जा रही है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here