कासगंज हिंसा: डीएम के पोस्ट के बाद बवाल, बाद में किया है एडिट

कासगंज हिंसा को लेकर जहां एक तरफ माहौल ठंडा करने का प्रयास किया जा रहा है तो दूसरी ओर जिला अधिकारी के एक पोस्ट के बाद मामला फिर से गरमा गया है. फेसबुक पर बरेली के जिलाधिकारी कैप्टन राघवेंद्र विक्रम सिंह ने कासगंज हिंसा को लेकर एक पोस्ट किया है. 39 शब्दों में किए गए इस छोटे से पोस्ट को रविवार शाम के वक्त करीब 7:55 पर पोस्ट किया गया था.

इस पोस्ट में बरेली के जिलाधिकारी कैप्टन राघवेंद्र विक्रम सिंह ने कहा है कि ‘अजब रिवाज बन गया है मुस्लिम मोहल्लों में जबर्दस्ती जुलूस ले जाओ और पाकिस्तान मुर्दाबाद के नारे लगाओ. क्यों भाई वह पाकिस्तानी है क्या ? यही यहां बरेली में खैलम हुआ था. फिर पथराव हुआ, मुकदमे लिखे गए’

बरेली के जिलाधिकारी कैप्टन राघवेंद्र विक्रम सिंह पूर्व सैन्य अफसर हैं. इस साल 30 अप्रैल को वह सेवानिवृत्त हो जाएंगे गणतंत्र दिवस के 2 दिन बाद कासगंज में फैले तनाव के बाद कैप्टन ने आर विक्रम सिंह नाम से बने फेसबुक पेज पर यह पोस्ट किया गया है. यूपी सरकार के प्रवक्ता और ऊर्जा मंत्री श्रीकांत शर्मा की तरफ से इस मामले में कहा गया है कि प्रशासनिक अधिकारियों को माहौल ठीक करने में अपनी मौजूदगी दर्ज करानी चाहिए ना कि उन्हें बिगाड़ने में अधिकारियों का काम व्यवस्था को ठीक करना होता है.

जिस वक्त जिलाधिकारी ने फेसबुक पर यह पोस्ट किया उसके 3 घंटे बाद तक लोगों ने इस मामले में जमकर प्रतिक्रिया दी लेकिन विवाद बढ़ता हुआ देख उन्होंने इस पोस्ट को एडिट किया और उसकी जगह 26 जनवरी को ऐतिहासिकता से जुड़ा कंटेंट डाल दिया लेकिन इससे एडिट हिस्ट्री नहीं मिट सकी है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here