हाईकोर्ट ने कोर्ट परिसर में बनी मस्जिद हटाने का दिया आदेश

इलाहाबाद हाईकोर्ट हाई कोर्ट परिसर में बने मस्जिद को हटाए जाने के आदेश दिए हैं। यह मस्जिद हाई कोर्ट परिसर की जमीन को हथियाकर कर बनाई गई है और साथ ही हाईकोर्ट के रजिस्ट्रार जनरल को भी या आदेश दिए गए हैं, कि वह सुनिश्चित करें की हाई कोर्ट के लखनऊ और इलाहाबाद परिसर में किसी भी प्रकार की धार्मिक गतिविधियां ना हो।

Allahabad Highcourt

हाईकोर्ट में अधिवक्ता अभिषेक पीआईएल दायर की थी, जिस पर सुनवाई करते हुए जस्टिस दिलीप बाबासाहेब भोसले और जस्टिस कुमार की बेंच ने मस्जिद के पदाधिकारियों को यह आदेश दिया कि वह लोग जल्द से जल्द शांतिपूर्ण तरीके तरीके से जमीन को खाली कर दें और 3 महीनों के अंदर कोर्ट को वापस कर दें। साथ ही कोर्ट ने यह भी निर्देश दिया कि मस्जिद खाली होने के बाद जमीन पर खड़ी इमारत हटवाएंगे। कोर्ट ने यह भी आदेश दिया है कि अगर वक्फ मैनेजमेंट दिए गए 3 महीने के अंदर आदेश का पालन करने और करवाने में असफल होता है तो रजिस्ट्रार जनरल जमीन का अधिकार बल पूर्वक प्राप्त करें। इसके लिए वह पुलिस और दूसरे जरूरी प्राधिकारियों की मदद लें।आदेश देते हुए कहा है कि कोर्ट के पास खुद ही पर्याप्त जगह नहीं है, जिसके चलते कुछ जज को दूसरे जजों के साथ चेंबर शेयर करना पड़ता है और जिनमें से एक जज उसी चेंबर में केस की सुनवाई भी करते हैं।