यूपी की बोर्ड परीक्षा में सख्ताई, 6 लाख से ज्यादा छात्रों ने छोड़ी परीक्षा

योगी सरकार द्वारा की गई यूपी बोर्ड परीक्षा में शक्ति का असर दिखने लग गया है. यूपी बोर्ड की दसवीं और बारहवीं कक्षा की परीक्षा में नकल रोकने के लिए सरकार द्वारा कई सारे एक्शन किए गए हैं. परीक्षा केंद्रों में सीसीटीवी कैमरे को लगवाया गया है, जिसके चलते 2 दिनों में 5 लाख से ज्यादा छात्रों ने परीक्षा को ही छोड़ दिया है. अब छात्रों की संख्या 6 लाख हो गई हैं. लेकिन इतने सारे छात्रों को एक साथ परीक्षा छोड़कर जाना एक गंभीर विषय बन गया है.

यूपी बोर्ड की परीक्षा 6 फरवरी से शुरू हुई थी. जिसमें 66 लाख से ज्यादा छात्र शामिल थे. दसवीं क्लास में 36,55,951 छात्र शामिल है और 12वीं क्लास में 29,81,327 छात्र शामिल है. लेकिन यूपी बोर्ड की परीक्षा में सरकार की दखलंदाजी के बाद लाखों की तादात में छात्रों द्वारा परीक्षा को छोड़ा जा रहा हैं. हरदोई जिले की बात करें तो यहां छात्रों ने परीक्षा छोड़ने का अव्वल स्थान प्राप्त कर रखा है. सरकार की दखलंदाजी के बाद अब छात्रों की संख्या यहां पर 31,000 रह गई है. दूसरे नंबर पर आजमगढ़ के छात्रों ने पैर टीका रखे हैं. यहां पर परीक्षा छोड़ने में 12वीं क्लास के छात्रों की संख्या काफी अधिक बताई जा रही हैं. योगी सरकार अब इस विषय में चिंता कर रही है कि नकल पर रोक लगाने के बाद इतने सारे छात्रों ने एक साथ परीक्षा को ही छोड़ दिया हैं. 2 दिनों के अंदर छह लाख से ज्यादा छात्रों ने परीक्षा को छोड़ दिया है.

अधिकारियों का कहना हैं कि परीक्षा को लेकर लगातार शक्ति बढ़ती जा रही है और आगे भी यह बढ़ती जाएगी. ताकि नकल को रोका जा सके परीक्षा में चल रही नकल को रोकने के लिए योगी सरकार ने कमर कस ली थी. बोर्ड की परीक्षा के लिए 8,549 परीक्षा केंद्र बनाए गए हैं. नकल को रोकने के लिए 22 टीमों को गठित किया गया है. सरकार की तरफ से इस बात को पहले ही साफ किया जा चुका हैं कि किसी भी परीक्षा केंद्र में सामूहिक नकल करते अगर पाया जाता हैं. तो प्रधानाचार्य समेत स्कूल प्रबंधक के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी और उन्हें जेल भेजा जाएगा सरकार की दखल अंदाजी के बाद 50 संवेदनशील जिलों में कोडेड कॉपी पर परीक्षा की जा रही हैं. सभी परीक्षा केंद्रों में सीसीटीवी कैमरे लगाए गए हैं.

आपको बता दें कि यूपी और बिहार में बोर्ड परीक्षा में नकल करवाना एक बिजनेस माना जाता हैं. नकल माफिया बच्चों से नकल करवाने के लिए पैसे लेते हैं. नकल माफियाओं में स्कूल प्रशासन से लेकर कई अन्य लोग शामिल होते हैं. लेकिन अब यूपी में योगी सरकार ने बोर्ड परीक्षा में नकल को पूरी तरह से बंद करने का ठेका ले लिया हैं.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here