आरोपी चलाते थे फर्जी कॉल सेंटर, हवाला के जरिए होता था करोड़ों का हेरफेर

नई दिल्ली। एक बार फिर से करोड़ों के फर्जीवाड़े का भंडाफोड़ हुआ है लेकिन अभी तक इस बात की पुख्ता जानकारी प्राप्त नहीं हो पाई है. सूत्रों के हवाले से खबर है कि दिल्ली के रमेश नगर इलाके में सालों से यह फर्जीवाड़ा किया जा रहा है. सूत्रों के हवाले से खबर है कि इस मामले में आरोपी सालों से अपने आप को आईआरएस ऑफिसर बता रहे हैं.

आरोपी अपने आप को आईआरएस अफसर बताकर अमेरिकी टैक्स पैपरों से अब तक करोड़ों रुपयों का गबन कर चुके हैं. मिली जानकारी के अनुसार इस मामले में आरोपियों के नाम प्रफुल, विकास, महेश, लखन, पंकज, सूरज और पार्थ है. जानकारी यह भी है कि यह सभी आरोपी गुजरात के अहमदाबाद के रहने वाले हैं जोकि दिल्ली में रजोरी गार्डन इलाके में रहते हैं. इससे पहले भी आरोपी गुरुग्राम और अहमदाबाद में फर्जी कॉल सेंटर की आड में कई सारे रुपयों का गबन कर चुके हैं.

दिल्ली में फ्रॉड कॉल सेंटर की आड में यह अब तक काफी सारे रुपयों का गबन कर चुके हैं. जानकारी है कि दिल्ली के कॉल सेंटर में 50 से ज्यादा लोग काम करते थे और पैसों के हेरफेर हवाला के जरिए किया जाता था. सूत्रों के हवाले से यह भी बात सामने आई है कि यह आरोपी टेरर फंडिंग में भी लिप्त हो सकते हैं. हालांकि अभी तक इस बात की पुष्टी नहीं हो पाई है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here