नयी दिल्ली। एचडीएफसी (HDFC) ने अपने रिटेल प्राइम लेंडिंग रेट में 30 आधार अंकों की बढ़ोतरी की घोषणा की है, जिससे अब मौजूदा ग्राहकों के लिये आवास ऋण (Home Loan) महंगा हो जायेगा। नई दरें नौ मई से लागू होंगी।

भारतीय रिजर्व बैंक (Reserve Bank of India) द्वारा रेपो दर (repo rate) में 40 आधार अंकों की बढ़ोतरी की घोषणा के साथ ही यह तय हो गया था कि बैंक भी जल्द ही दरों को बढ़ाने की घोषणा करेंगे।

एचडीएफसी ने हाउसिंग लोन पर रिटेल प्राइम लेंडिंग रेट (RPLR) को 0.30 फीसदी बढ़ा दिया है जिस पर होम लोन की दरें तय होती है। नई दरें 9 मई 2022 से प्रभावी होंगी। नई दरों के लागू होने के बाद क्रेडिट और लोन राशि के आधार पर 7-7.5 फीसदी की दर से लोन मिलेगा। अभी यह 6.70-7.15 फीसदी पर है।

मार्गेज लेंडर एचडीएफसी में मौजूदा ग्राहकों के लोन की रीप्राइसिंग के लिए तीन महीने का साइकिल चलता है. ऐसे में बढ़ी हुई लोन की दरें फर्स्ट डिस्बर्समेंट के डेट के आधार पर तय होंगी। इस महीने की शुरुआत में एचडीएफसी ने बेंचमार्क लेंडिंग रेट को 5 बेसिस प्वाइंट्स (0.05 फीसदी) बढ़ा दिया था जिससे मौजूदा लोन की ईएमआई महंगी हो गई है।

यह भी पढ़ें: Business news in hindi

बुधवार को आरबीआई ने अचानक रेपो पेट में 40 बेसिस प्वाइंट्स (0.40 फीसदी) और कैश रिजर्व रेशियो (सीआरआर) में 50 बेसिस प्वाइंट्स (0.50 फीसदी) की बढ़ोतरी का ऐलान किया था। कैश रिजर्व रेशियो का मतलब आरबीआई के पास बैकों द्वारा कुल कैश डिपॉजिट का हिस्सा है। आरबीआई के इस ऐलान के बाद से वित्तीय संस्थान दरों में बढ़ोतरी कर रहे हैं। अब रेपो रेट 4.40 फीसदी, रिवर्स रेपो रेट 3.35 फीसदी और सीआरआर 4 फीसदी पर है। बढ़ी हुई दरें तत्काल प्रभाव से लागू हो चुकी हैं।

(इनपुट: आईएएनएस \पीटीआई)

ताजा खबरें

Leave a comment

Your email address will not be published.