अभी भी बरकरार है मैरी कॉम का जादू

कहते हैं प्रतिभा किसी उम्र की मोहताज नहीं होती इस बात को एक बार फिर मैरीकॉम ने साबित कर दिया है। वर्तमान में चल रहे एशिया मुक्केबाजी चैंपियनशिप के सेमीफाइनल में जापानी मुक्केबाज को एक कड़े और मेरी रोमांचक मुकाबले में हराकर मेरीकॉम ने अपनी जगह इस एशिया मुक्केबाजी चैंपियनशिप के फाइनल में बनाई है।

mary kom

आपको बता दें कि मैरी कॉम ने 5 बार वर्ल्ड मुक्केबाजी चैंपियनशिप का खिताब जीता है। इतना ही नहीं अगर वह इस फाइनल को जीत लेती है तो यह पहला मौका होगा जब उन्हें किसी एशिया चैंपियनशिप में स्वर्ण पदक मिलेगा। मैरी कॉम अभी 48 किलो वर्ग में खेल रही हैं। मैरी कॉम इससे पहले 51 किलो वर्क से खेलती आई हैं मगर 5 सालों के बाद यह पहला मौका है जब वह 48 किलो वर्क कैटेगरी में खेल रही हैं।

अगर यह फाइनल मैच मैरी कॉम जीत लेती हैं तो इस कैटेगरी में यह उनका पहला स्वर्ण पदक भी होगा इतना ही नहीं लंदन ओलंपिक में कांस्य पदक विजेता मैरी कॉम एक स्पोर्ट्समैन होने के साथ-साथ भारतीय राज्यसभा के सांसद भी हैं। मैरीकॉम के ऊपर एक पिक्चर भी बन चुकी है जिसमें उनका किरदार भारतीय अभिनेत्री प्रियंका चोपड़ा ने निभाया था।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here