मुआवजे को लेकर ग्रामीणों ने एसडीएम से की मुलाकात

सितारगंज के खटीमा रोड एनएच 74 पर स्थित सिसइखेड़ा के ग्रामीणों ने मुआवजा न मिल पाने को लेकर एसडीएम सितारगंज से मुलाकात की. अभी तक सिसइखेड़ा के अंदर 600 मीटर रोड़ निर्माणधीन है. जिसको लेकर आज पुलिस व एचजीइंफ़्रा कंपनी के अधिकारियों द्वारा मौके पर जाकर काम शुरू करना चाहता था लेकिन ग्रामीणों ने नहीं यहां पर काम शुरु नहीं होने दिया था.

meeting

सितारगंज से टनकपुर तक एनएच 74 का निर्माण करा रही एचजीइंफ़्रा कंपनी द्वारा सिसइखेड़ा में 600 मीटर रोड़ निर्माणधीन है जिसको लेकर शुक्रवार पुलिस व एचजीइंफ्रा कंपनी के अधिकारी मौके पर पहुंचे. जिसमें कुछ मकान सामने आ रहे है. जिसमें सिसइखेड़ा के ग्रामीणों ने मुआवजे को लेकर मकान तोड़ने का विरोध किया और ग्रामीणों ने एसडीएम सितारगंज से मुलाकात की

उनका कहना था कि सिसइखेड़ा में जो भूमि रोड़ में आयी है उसमें से अधिकतर थारू लेंड है. जिसको लेकर वर्षों से काबिज कास्तकारों को भूमि का उचित मुआवजा नहीं मिल पा रहा है. थारूओं के नाम मुआवजे की राशि दुसरों के नाम काबिज लोगों को ही दी जाए साथ ही कुछ लोगों के नाम ही नहीं दिए गए है. ऐसे लोगों की भूमि की जांच होनी बाकी है जिससे उनको मुआवजे की रकम मिल सके.

वहीं एसडीएम सितारगंज विनोद कुमार का कहना था सिसइखेड़ा में लगभग 600 मीटर रोड़ बननी है. जिसका मुआवजा एसएलओ ऑफिस रुद्रपुर में आ गया है. जो लोग मुआवजे से रहे गए है वो आज ही रुद्रपुर जाकर अपनी 2 फाइलें जमा करा कर मुआवजा लें. इसके लिए राजस्व विभाग को रिपोर्टे तैयार करने के निर्देश दे दिए गए है. जिससे जल्द से जल्द मुआवजा लोगों को मिल सके. वहीं थारू लेंड की भूमि के मामलों का निस्तारण कर दिया गया है और किसी भी कीमत पर रोड़ को जल्द से जल्द पूरा किया जायेगा.

जनहित के लिए चरन सिंह की रिर्पोट

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here