उत्तराखंड फूड फेस्टिवल में पर्यटकों ने उठाया पहाड़ी व्यंजनों का लुत्फ

मसूरी विंटरलाइन कार्निवाल के तहत उत्तराखंड फूड फेस्टिवल में पर्यटकों ने जमकर पहाड़ी व्यंजनों का लुत्फ उठाया. इस दौरान विभिन्न व्यंजनों व मिठाइयों का स्वाद चखने के लिए लोगों का तांता लगा रहा. फूड फेस्टिवल में उत्तराखण्ड के गढ़वाल और कुमाउनी व्यंजन जैसे फूड फेस्टिवल धूमरू पल्लर, अल्मोड़ा की बाल मिठाई, मंडुवा व जौ की रोटी, कुलथ की दाल, कद्दू का रायता, तिल की चटनी, झंगोरे की खीर, मीठा भात, गुलगुला, तुअर दाल, झंगोरा व कंडाली का साग आदि व्यजनों को खाकर देश-विदेश के पर्यटक इनके स्वाद को चख का हैरान थे और जमकर इन व्यजनों का लुफ्त उठाया.


फूड फेस्टिवल का शुभांरम्भ कार्यक्रम के मुख्य अतिथि मशहूर एक्टर विक्टर बैनर्जी और मसूरी विधायक गणेश जोशी ने संयुक्त रूप से किया. पत्रकारों से वार्ता करते हुए कहा कि उत्तराखण्ड की संस्कृति और व्यजनों कार्निवाल के माध्यम से प्रर्दशित कर उसका प्रचार-प्रसार करने का प्रयास अच्छा हैं. उन्होंने बताया कि कार्निवाल का यह कामयबी का पाचवां साल हे जो लगातार उचाईयों को छू रहा हैं. उन्होंने कहा कि वह बहुत खुश हैं क्योंकि वह खुद मसूरी में रहते है और पहाड़ की सस्कृंति को वह बहुत पंसद करते हैं. ऐसे में उन्होने सभी लोगो से उत्तराखंड की सस्कृंति को देश-विदेश में प्रचार प्रसार करने का आग्रह किया.

मसूरी भाजपा विघायक गणेश जोशी ने कहा कि प्रदेश सरकार का मुख्य उद्देश्य प्रदेश की बोली भाषा के साथ प्रदेश में उगने वाली समार्गी से तैयार किये गए. व्यजनों को देश विदेश में प्रचारित और प्रसारित करना हैं, जिससे प्रदेश के पहाड़ी क्षेत्रो में लोगो को रोजगार का साधन मिल सके और पहाड़ से पलायन पर भी रोक लगाई जा सकें. उन्होंने कहा कि प्रदेश के मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र रावत के प्रयासों के बाद अब प्रदेश की सस्कृंति के साथ व्यजनों की धूम अन्य प्रदेशों और विदेशों में भी देखी जा रही हैं.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here