मसूरी में तिब्बतियों की रैली

मसूरी में तिब्बतियों ने 59वें विद्रोह दिवस पर मालरोड पर रैली निकाली साथ ही रैली के दौरान चीन के खिलाफ जमकर नारेबाजी की. इस रैली में तिब्बत की आजादी की मांग भी की गई. बड़ी संख्या में तिब्बती महिलाओं और पुरुषों ने हैप्पीवैली से रैली निकाली जो की अकादमी रोड, लाइब्रेरी मालरोड होते हुए रियाल्टो चौक तक होते हुए वापस गांधी चौक पर समाप्त हुई. इस दौरान तिब्बतियों ने चीन के खिलाफ जोरदार नारेबाजी की. इस मौके पर वक्ताओं ने कहा कि चीन ने तिब्बत पर कब्जा किया और उसे छावनी के रूप में प्रयोग किया. वहीं अपनी विस्तार वादी नीति को आगे बढ़ाने के लिए सन् 1962 में भारत पर आक्रमण कर हजारों वर्गमील भूमि हड़प ली.

वक्ताओं ने मांग करते हुए कहा की तिब्बत को आजादी दी जाए ताकि भारत सुरक्षित रह सके. इस मौके पर तिब्बती समुदाय के लोगों ने चीन का आह्वान करते हुए कहा कि पिछले 60 सालों में उनकी तिब्बत के उपर नीति पूर्णता विफल रही है. इसी के साथ ही उन्होंने चीन की नीतियों की घोर निंदा करते है कहा चीन द्वारा अभियोग लगाया है कि चीन में घटित होने वाले आत्मादाह के पीछे केन्द्रीय व क्षत्रिय आर.टी.वाई.सी संगठन व परमपावन दलाई लामा जिम्मेदार है.

अंतराष्ट्रीय दवाब, आलोचना दलील व अपील के बावजूद चीन द्वारा लगातार तिब्बतियों का दमन किया जा रहा है. उन्होंने चीन सरकार से मांग की है कि वह तिब्बती प्रशासन के साथ बातचीत का रास्ता अपनाए. उन्होंने कहा कि तिब्बत में चीनियों द्वारा तिब्बतियों का उत्पीड़न किया जा रहा है. जिससे तिब्बती समुदाय आहत है उन्होंने सयुक्त राष्ट्र से जल्द चीन से तिब्बत की अजादी के लिए हस्ताक्षेप करने की मांग की है.

देखें विडियो 

अपने बचपन की दोस्त से शादी करेंगे आकाश अंबानी

एक बार फिर से दो बच्चों की मां बनी सनी लियोनी

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here