मसूरी में आपदा को लेकर छात्रों को किया जागरूक

एसडीआरएफ की टीम ने मसूरी के हिन्दी माध्यम के स्कूली छात्र छात्राओं को आपदा प्रबंधन से बचाव के गुण सिखाए गए. मसूरी सनातन् धर्म इंटर कालेज में रोटरी क्लब मसूरी के तत्वाद्यान में आयोजित कार्यशाला में एसडीआरएफ के अधिकारियों और जवानों द्वारा आपदा या दुर्घटना के समय पहुंचाई जाने वाली सहायता के साथ महत्वपूर्ण कदम उठाये जाने वाले कदमों के बारे में विस्त्रीत जानकारी दी है. एसडीआरएफ के एसपी अजय भट्ट ने सभी को आपदा के समय किस प्रकार से निपटा जाए इसकी जानकारी दी. साथ ही एसीडीआरएफ के जवानों कॉलेज परिसर में मॉक ड्रील कर आपदा के समय बचाव के हर एक पहलू पर बारीकी से छात्र-छात्राओं को जानकारी दी.

u k

अजय भट्ट ने छात्र-छात्राओं के साथ शिक्षकों को सम्बोधित करते हुए कहा कि आपदाओं के पूर्व की तैयारी कराते हुए यदि बच्चों को जागरूक करें तो आपदा के प्रकोप से काफी हद तक बचा जा सकता है. उन्होंने कहा कि उत्तराखंड राज्य के नौ जनपद भूकम्प की दृष्टि से जोन 4 संवेदनशील तथा अन्य चार अन्य जनपद जोन पांच के अति संवेदनशील हैं. यहां पर लगातार छोटे-छोटे भूकम्प आते हैं जो कि एक बड़े भूकम्प की चेतावनी दे रहे हैं. जिससे व्यापक क्षति होने की सम्भावनाएं बढ़ गई हैं. उन्होंने कहा कि आपदाओं को न्यूनतम करने के लिए कार्यशाला का आयोजन किया जा रहा है, ताकि अधिक से अधिक लोगों को इसकी जानकारी व जागरूकता से अवगत कराया जा सके. उन्होंनें कहा कि एसडीआरएफ के माध्यम से आपदा पीड़ितों को तत्काल सहायता उपलब्ध कराई जाती है. लोगों को आपदा के दौरान सुरक्षित रहने के लिए जागरूकता अभियान भी चलाये जा रहे हैं.

पूर्व आईजी बीएसएफ मनोरंजन त्रिपाठी ने कहा कि आपदा से जन-धन की हानि को कम करने के लिए भी जागरूकता को होना अहम है. कार्यशाला में एसडीआरएफ के माध्यम से विभिन्न घटनाओं को न्यूनतम किये जाने के लिए आपदा उपकरणों का डैमों भी किया गया. साथ ही टीम ने आपदा के दौरान होने वाली घटनाओं से बचने के उपाय बताये. इसके अलावा टीम के सदस्यों ने प्राकृतिक आपदा के समय प्रयोग में आने वाले उपकरणों के बारे में भी बच्चों को बताया है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here