बाबा के खिलाफ संगत का आक्रोश

नानकमत्ता साहिब के ऐतिहासिक गुरुद्वारा स्थित धार्मिक डेरा कारसेवा प्रमुख बाबा तरसेम सिंह द्वारा अपने सैकड़ों समर्थकों के साथ 3 तारीख को थाना परिसर पहुंचकर आत्महत्या करने की बात कही गई है. इस दौरान अपने खिलाफ उठ रही आवाजों को दबाने का प्रयास किये जाने और थाना इंचार्ज के खिलाफ अशब्द कहने से आक्रोशित स्थानीय संगत के लोगों ने नगर में प्रदर्शन करते हुए थाने में पहुंच प्रदर्शन किया है.

sage of the accompaniment against Baba in uttrakhand   sage accompaniment, against Baba, uttrakhand, police, gurudwara

स्थानीय संगत का कहना है कि डेरा कारसेवा प्रमुख बाबा तरसेम सिंह द्वारा पूर्व में कई लोगों पर झूठे मुकदमे दर्ज कराए गए हैं. यह सभी मुकदमें झूठे साबित भी हुए हैं. बाबा की राजनैतिक पहुच के चलते कई वर्षों से गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी नानकमत्ता पर जिलाधिकारी को रिसीवर नियुक्त रख अपना वर्चस्व बनाए रखा गया है. लेकिन हाई कोर्ट के आदेश पर 2016 में गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी नानकमत्ता साहिब का चुनाव हुआ था. इसके बाद कमेटी गठित हो गई जोकि बाबा को बर्दाश्त नही हो रही थी.

हालांकि इस के तहत बाबा नए हथकंडे कमेटी भंग कराने का प्रयास करने लग रहे है. वही 2 तारीख को एक महिला द्वारा जब उनपर मुकदमा दर्ज करवाया गया तो बाबा ने थाने में चिता बनाकर आत्महत्या करने का दबाव पुलिस पर बनाया. जिसके बाद इस मामले को दबाने का प्रयास किया गया. जिसे यहां की जनता बर्दाश्त नही करेगी. लोगों की मांग है कि बाबा के खिलाफ उठ रही आवाजों की उच्च स्तरीय जांच हो ताकि दूध का दूध और पानी का पानी हो सके.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here