मसूरी में मजदूरो का नगर पालिका के खिलाफ हल्ला बोल

मसूरी नगर पालिका परिषद के द्वारा मसूरी में गोल्फ कार चलाये जाने के साथ मजदूरों के भवनो में सभासद द्वारा कब्जे के विरोध में मसूरी रिक्क्षा चालकों और मजदूर सगठनों द्वारा नगर पालिका परिषद और मसूरी होटल एसोसिएशन के खिलाफ जमकर हल्ला बोल कर नारे बाजी की गई. वहीं सभी लोग मसूरी के शहीद स्थल पर एकत्रित हुए जिसमें से तीन मजदूर विजय सिंगवान, रणजीत सिंह चैहान और सत्तर सिंह पवार भूख हंडताल पर बैठे जबकि सैकडों कि तदात में मजदूर और रिकक्षा चालको द्वारा पालिका प्रशासन के खिलाफ धरना देते हुए पालिका प्रशासन के साथ पालिकाध्यक्ष मनमोहन सिंह मल्ल पर मजदूर विरोधी नीतिया अपनाकर मजदूरों को समाप्त करने का आरोप लगाया.

वहीं मजदूरों ने कहा कि पालिकाध्यक्ष के सभासदो को संरक्षण देकर मजदूरों की भूमियों और मकान पर कब्जे कराये गए. वहीं उन्होंने कहा कि पालिकाध्यक्ष मसूरी होटल एसोसिएशन के साथ मिलकर मसूरी में गोल्फ कार चलाने की सोच रहे हैं, जिससे उनकी रोजी रोटी पर संकट खडा हो जायेगा. मजदूर नेता सोहन पंवार, गंभीर पंवार, केदार सिंह चैहान, विजय सिंह और सभासद कुलदीप रावत ने कहा कि वह मसूरी में किसी भी हाल में गोल्फ कार नहीं चलने देगें और अगर नगर पालिका को मसूरी के इ-रिक्शों का संचालन करना है तों वह सभी 121 रिक्षा चालकों को इ-रिक्शों दे या कुछ रिक्षा चालको को दुकानें या नगर पालिका परिषद में नौकरी दें.

उन्होंने कहा कि उन्होंने कहा कि मसूरी एसोसिएशन और पालिकाध्यक्ष मनमोहन सिंह मल्ल मिलकर मजदूर विरोधी नीतिया अपनाकर मजदूर को समाप्त करना चहाते हैं. उन्होंने कहा कि अगर पालिका प्रशासन द्वारा उनके खिलाफ कोई भी नीति अपनाई गई, वह बर्दाष्त नहीं की जायेगी. उन्होंने कहा कि मसूरी में पालिका प्रशासन द्वारा सभी रिक्क्षा चालको के भले के लिये सोच कर सभी के लिये सोचा जाये, जिससे उनका किसी प्रकार का अनहित ना हो वही पालिका प्रशासन द्वारा मजदूरों की जमीनों और भवनो पर किये गए कब्जे को तत्काल खाली करवाकर उनको मजदूर को दिया जाये. उन्होंने कहा कि अगर उनकी मांगो को नहीं माना जाता तो मजदूरों का प्रर्दशन लगातार चलता रहेगा. वही इसका परिणाम अगामी चुनाव में भी देखने को मिलेगा.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here