मसूरी में रिक्शा चालकों की धमकी

मसूरी में मजदूर संघ मसूरी से जुड़े रिक्शा चालकों ने गोल्फकोर्ट कार चलाये जाने को लेकर शासन की प्रक्रिया के खिलाफ धरना-प्रदर्शन व भूख हड़ताल करने की चेतावनी दी हैं. वहीं रिक्षा चालकों ने नगर पालिकाध्यक्ष मनमोहन सिंह मल्ल व होटल एसोसिएशन पर श्रमिक विरोधी नीतिया अपनाकर मसूरी में गोल्फ कार्ट कार चलाने का फैसला लिया हैं. जिसके विरोध में समस्त रिक्या चालक अन्य मजदूर संगठनों के साथ मिलकर 21 जनवरी से शहीद स्थल झूलाघर पर आमरण अनशन और भूख हडताल करेगें.

रिक्शा चालकों ने बताया कि पूर्व में मजदूर संघ द्वारा साइकिल रिक्शा को ई-रिक्शा में परिवर्तित करने की मांग की गई है, किन्तु शासन द्वारा पालिकाध्यक्ष व होटल एसोसिएशन की श्रमिक विरोधी नीतियों के चलते गोल्फ कार्ट कार चलाने का फैसला किया गया है, जो कि रिक्शा चालकों के साथ अन्याय हैं. जिसका जमकर विरोध किया जायेगा, उन्होंने बताया कि गोल्फ कार्ट चलाने को लेकर मजदूर संघ से जुड़े रिक्शा चालकों से इस संबंध में वार्ता किये बिना शासन ने मसूरी में गोल्फ कार्ट चलाने का फैसला किया हैं. रिक्शा चालकों का कहना है कि गोल्फ कार्ट चलाने से पहले उनकी राय भी ली जानी चाहिए, क्योंकि शासन के अनुसार 121 रिक्शा मसूरी में चल रहे हैं वह यथावत चलेंगे, तो गोल्फ कार्ट चलने के बाद उनकी रोजी रोटी पर संकट गहरा जाएगा. जोकि उनके साथ अन्याय हैं. रिक्शा चालक चाहते हैं कि जो 121 रिक्शे अभी चल रहे हैं उनको ई-रिक्शा में परिवर्तित किया जाना चाहिए. उनका आरोप लगाया किएक साजिश के तहत होटल एसोसिएशन के अध्यक्ष संदीप साहनी और नगर पालिका अध्यक्ष मनमोहन सिंह मल्ल द्वारा 121 रिक्शा चालकों को नजर अंदाज कर मसूरी में गोल्फ कार्ट चलाने की योजना गढ़ रहे हैं, जिसे किसी भी हाल में बर्दाश्त नही किया जाएगा.

पूर्व विधायक जोत सिंह गुनसोला ने भी रिक्शा चालकों का समर्थन करते हुए कहा है कि रिक्शा चालकों को नजर अंदाज नही किया जाना चाहिए. उन्होंने कहा कि जो 121 रिक्शे अभी चल रहे हैं, उससे दोगुने रिक्शा श्रमिकों की रोजी रोटी जुडी हैं. उन्होंने कहा कि अधिकारियों और पालिका प्रशासन को पहले रिक्शा चालको के सभी मजदूरो से वार्ता कर मसूरी में गोल्फ कार्ट कार चलाने का निर्णय लेना चाहिये.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here