राज ठाकरे ने कहा, नाना पाटेकर मुझे ना बताए की राजनिति कैसी करनी है

मुंबई में एक बार फिर नेता और फिल्मस्टार एक दूसरे के सामने आ खड़े हुए है। राज ठाकरे सार्वजनिक स्थानों पर फेरीवालों को जगह नहीं दिए जाने के खिलाफ हो गए हैं तो दूसरी तरफ फिल्मजगत के जाने माने कलाकार नाना पाटेकर राज ठाकरे का विरोध कर रहे है।

raj thakrey

नाना ने इवेंट में बोला की बीते सालों से महानगरपालिका प्रशासन फेरीवालों को जगह मुहैया नहीं करवा पाई है और इन सब के लिए कोई जिम्मेदार है तो वह महानगरपालिक है साथ ही उन्होंने कहा की फेरीवाले तो अपने दो वक्त के खाने के लिए फेरी लगाते है।

नाना पर पलटवार करते हुए राज ठाकरे ने कहा की ‘नाना फिल्मजगत के बहुत अच्छे कलाकार हैं, लेकिन उन्हें राजनिति के बारे में मुझे ना बताए की मुझे कैसे और कैसी राजनिति करनी है और अगर उन्हें लगता है की फेरीवालों ध्यान रखना सरकार का काम है तो उन्होंने अपना फाउंडेशन(NAAM)क्यों शुरु किया है,साथ ही ठाकरे ने कहा की सरकार का काम है की वह हर घर मं पानी पहुंचाए ,नाना पाटेकर इस काम के लिए सरकार से क्यों नहीं बोलते है। ठाकरे ने नाना पाटेकर की फिल्म ‘वेलकम, की मिमिक्री करते हुए बोला की उन्होंने इस फिल्म में फेरीवाले का किरदार किया है इसका मतलब यही है की नाना को फेरीवालों से कुछ ज्यादा ही लगाव है।

 

वहीं मुंबई कांग्रेस अध्यक्ष संजय निरुपम ने फेरीवालों के समर्थन में आंदोलन भी शुरु कर दिया है और नाना द्वारा फेरीवालों का समर्थन करने पर संजय ने स्वागत किया है साथ ही आभार भी व्यकत किया है और निरुपम ने ट्वीट कर के कहा की फेरीवालों को हो रही समस्या को जानने के लिए में उनके द्वारा किए गए संघर्ष का साथ देने लिए नाना का अभिवादन करता हूं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here