ग्रामसभा की जमीन से खनन का विरोध

सितारगंज के उकरौली गांव के ग्रामवासियों ने उप-जिलाधिकारी कार्यालय पहुंचकर, उप-जिलाधिकारी विनोद कुमार से मुलाकात की और एक प्राथना पत्र उन्हें सौंपा. ग्रामवासियों का कहना था कि ग्रामसभा उकरौली के राजस्व विभाग की भूमि पर वन विकास निगम का धर्मकांटा लगाने की अनुमति न दी जाये साथ ही वन विकास निगम को उपखनिज के चुगान का कार्य करने की अनुमति भी नहीं दी जानी चाहिए, क्योंकि ग्रामसभा की भूमि ग्रामसभा की धरोहर सम्पति है.

समस्त ग्रामवासी इसका विरोध करते हैं. चुगान होने से ग्रामसभा की भूमि का नुकसान ही होगा. वही उप-जिलाधिकारी विनोद कुमार ने कहां की इस कि जांच की जाएगी. इससे पहले भी कई जगहों से गड़बड़ी के मामले सामने आ चुके हैं. काशीपुर की कोसी नदी में अवैध खनन करते वक्त नदी की गहराई में जाकर खुदाई कर रहे मजदूरों पर ढांग गिर जाने से तीन मजदूरों की मौत हो गई थी. जिसपर जिलाधिकरी नीरज खैरवाल ने जिला अंतर्गत सभी खनन क्षेत्रों में सरकार द्वारा आवंटित प्राइवेट पट्टों पर अग्रिम आदेश आने तक रोक लगा दी. जिसके चलते सितारगंज सिडकुल के पास से बहने वाली कैलाश नदी के खनन क्षेत्र में सन्नाटा पसर गया था.

जनहित खबर के लिए चरन सिंह की रिपोर्ट 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here