सितारगंज: लगातार बढ़ रहा गुरुद्वारा विवाद

सितारगंज के ऐतिहासिक गुरुद्वारे नानकमत्ता का विवाद बढ़ता ही जा रहा है. 2 दिसंबर को गुरुद्वारा प्रधान जसविंदर सिंह गिल और डेरा प्रमुख बाबा तरसेम सिंह के खिलाफ गुरुद्वारे का पूर्व मैनेजर प्रगट सिंह की पत्नी द्वारा थाना नानकमत्ता में दी गई छेड़खानी व मारपीट की तहरीर दी. इसमें कहा गया था कि बाबा और उसके समर्थकों ने थाने पहुंच दवाब बनाकर है. मामले को खत्म करने के विरोध में बाबा और गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी के प्रधान के खिलाफ रायसिख समाज बडी संख्या में एसडीएम कार्यालय पहुँच प्रदर्शन करते हुए तहसीलदार को ज्ञापन सौंपा।

nanakmtta gurudwara issue take critical turn   nanakmtta gurudwara, gurudwara issue, critical turn, uttrakhand
gurudwara issue

सिख संगत का कहना है कि बाबा और गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी प्रधान पुलिस पर दवाब बना मामले को दबाना चाहते है. उन्होंने कहा कि गरीबों की आवाज को दबाने का प्रयास किया जा रहा है. उनका कहना है कि बाबा ओर प्रधान पर जो आरोप लगे हैं उनकी निष्पक्ष जांच होनी चाहिए अगर एक धार्मिक स्थल पर रहने वाले बाबाओं पर कोई आरोप लगता है तो राजनीतिक लोग उसको दबाने का प्रयास करने लगते हैं. ऐसा नहीं होना चाहिए. उनकी प्रशासन से मांग है कि मामले की निष्पक्ष जांच हो और दोषियीं पर सख्ती से कार्रवाई की जाए.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here