मसूरी प्रशासन के द्वारा मसूरी देहरादून रोड़ किनारे का सर्वे

उत्तराखण्ड के गढ़वाल आयुक्त दिलीप जावलकर द्वारा मसूरी देहरादून मार्ग पर रोड़ के किनारे अनाधिकृत रूप से बने खोके और ढाबों व उनके हो रही गंदगी और यातायात में हो रही परेशानियों को देखते हुए अपर जिलाधिकारी वित्त एवं राजस्व के नेतृत्व में 5 विभाग के अधिकारियों की सदस्यता में टीम गठीत कर मसूरी देहरादून मार्ग पर रोड़ के दोनो किनारों पर सभी निर्माण, खोके, ढाबो का सर्वे कर एक सप्ताह के भितर विस्तृत रिपोर्ट तैयार कर उनके समुख पेश करने के निर्देश दिये.

जिसके बाद शुक्रवार को एडीएम के नेतृत्व में एसडीएम मसूरी मीनाक्षी पटवाल, लोक निर्माण विभाग, मसूरी देहरादून विकास प्रधिकरण, वन विभाग के अधिकारियों के साथ मसूरी देहरादून मार्ग पर कुठाल गेट से मसूरी लाइब्रेरी और पिक्चर पैलेस तक सभी खोको, ढाबो, दुकानो का सर्वे किया गया और वह इनके मालिको से उनके द्वारा बनाये गए खोके, ढाबो, दुकानो और अन्य निर्माण किये गए निर्माण कार्यो को लेकर सभी दस्तावेज विभाग में जमा करने के निर्देश दिये गए. वही प्रशासन द्वारा किये जा रहे सर्वे से रोड किनारे ढाबो, खोके और अन्य निर्माण इकाईयों के स्वामियों में हंडकम्प मच गया.

एडीएम वित्त और राजस्व वीर सिंह बुंदियाल ने बताया कि गढ़वाल आयुक्त दिलीप जवालकर के निर्देशों के बाद शुक्रवार को पांच सदस्य टीम के संबधित अधिकारियों के साथ उनके द्वारा मसूरी देहरादून मार्ग पर रोड़ किनारे हो रहे पक्के और कच्चे निर्माण कार्यो का चिहिंत कर सर्वे किया गया हैं. उन्होंने कहा कि आयुक्त द्वारा निर्देश दिये गए है कि निरिक्षण के दौरान कितनी इकाईयों द्वारा स्थाई और अस्थाई रूप से बनाई गई है. इनके द्वारा खाद्य सुरक्षा एंव रोड साईड नियंत्रण एक्ट के अनुमति ली गई और दनके द्वारा इकाई को बनाने के लिये मानचित्र स्वीकृत करवाया गया हैं. वहीं इन इकाईयो द्वारा कूडा निस्तारण और पर्किंग व्यवस्था है कि नहीं. उन्होने बताया कि गढ़वाल आयुक्त द्वारा इन रोड के किनारे इकाईयों का पर्यावरण, यातायात, कानून व्यवस्था और पर्यटकों में किस प्रकार का प्रभाव पढ़ रहा है.

इसकी भी रिपोर्ट तैयार करने के निर्देश दिये गए हैं. उन्होंने कहा कि जल्द गढ़वाल आयुक्त महोदय के निर्देशानुसार मसूरी देहरादून रोड किनारे का सर्वे कर विस्तृत रिपोर्ट तैयार की जा रही हैं. जिससे गढ़वाल आयुक्त के द्वारा अग्रीम कार्यवाही की जा सके. उन्होंने कहा कि अनाधिकृत रूप् से बने इकाईयों के कारण मसूरी देहरादून का साईड व्यू ढक गया है. वह गंदगी और यातायात में खासी परेशानी आ रही है. वह पर्यटको की सुरक्षा को लेकर भी सवाल खडे़ किय जा रहे हैं. जिसके बाद प्रशासन द्वारा सर्वे की कार्यवाही अमल में लाई गई हैं.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here