मसूरी में अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद की बैठक

मसूरी में अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद कि मसूरी एमपीजी कालेज में बैठक आयोजित की गई, जिसमें मुख्य अतिथि के रूप् में गढ़वाल संयोजक अंकित जोशी ने शिरकत की. उन्होंने कहा कि एबीवीपी लगातार छात्र-छात्राओं के हितों के लिये काम कर रहे हैं. वहीं अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद की स्थापना का मूल उद्देश्य राष्ट्रीय पुनर्निर्माण हैं.

विद्यार्थी परिषद के अनुसार, छात्रशक्ति ही राष्ट्रशक्ति होती हैं. राष्ट्रीय पुनर्निर्माण के लिए छात्रों में राष्ट्रवादी चिंतन को जगाना ही अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद का मूल उद्देश्य हैं. उन्होंने बताया कि देश के सभी विश्वविद्यालयों और अधिकांश कॉलेजों में परिषद की इकाईयां हैं. अधिकांश छात्रसंघों पर परिषद का ही अधिकार हैं. संगठन का मानना है, कि आज का छात्र कल का नागरिक हैं और एबीवीपी एकमात्र संगठन है जो शैक्षणिक परिवार की अवधारणा में विश्वास रखता हैं. वहीं अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद ने छात्र हित और राष्ट्र हित से जुड़े प्रश्नों को प्रमुखता से उठाया है और देश व्यापी आंदोलनों का नेतृत्व किया हैं.

इस मौके मसूरी एबीवीपी के सदस्यों ने गढ़वाल संयोजक को अपी कई समसयाओं से अवगत कराया जिसपर उनके द्वारा समस्याओं का निराकरण करने का आश्वसन दिया. वही इस मौके पर अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद मसूरी की कार्यकारणी की घोषणा की गई. जिसमें शेखर सेमवाल को नगर अध्यक्ष, मुकेश प्रसाद नगर मंत्री, कविता नेगी, मुकेश पाल, अनिल सिंह को नगर दपाध्यक्ष, अनुज कोठारी को नगर सहमंत्री, आशिष कोइारी, पंकल सेमवाल, सोहन कंडारी को नगर सह प्रमुख बनाया गया. वही गढ़वाल संयोजक अंकित जोशी ने सभी नवनियुक्त पदाधिकारियों को माला पहना कर बधाई दी. इस मौके पर पूर्व छात्रसंघ अध्यक्ष आशीष जोशी, पूर्व छात्रसंध अध्यक्ष अभिलाश सिंह, गिरीश नौटियाल, सपना शर्मा, मनीश नौटियाल, सत्येंद्र सिंह, नरेष सिंह, रविन्द, अजय बहुगुणा, अनुराधा नैथानी, किरन, तनमीत, आशीष कोठारी, पंकज सहित कई छात्र मौजूद थे.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here