मसूरी में व्यापार मंडल की बैठक

मसूरी में व्यापार मंडल कि वार्षिक बैठक में मसूरी की बिगड़ती व्यवस्था के साथ बाहरी व्यक्तियों के द्वारा मसूरी में आकर व्यापार करने को लेकर गहन चर्चा की गई. वहीं मसूरी के व्यापारियों द्वारा मसूरी व्यापार मंडल के पदाधिकारियों से मसूरी के व्यापारियों को हो रही परेशानियों को जल्द समझ कर उसका निवारण करने का आग्रह किया. मसूरी व्यापार मंडल अध्यक्ष रजत अग्रवाल ने कहा कि मसूरी व्यापार मंडल पिछले 9 सालों से उनकी अध्यक्षता में बेहतर काम कर रहा है. वहीं नगर पालिका और स्थानीय प्रशासन के द्वारा मसूरी कि व्यवस्था को दुरस्त करने को लेकर सहयोग ना मिलने के कारण आज मसूरी का हाल बेहाल है. मसूरी में शौचालय की भारी कमी है और जो है भी उनकी हालत बद से बदर्तर हो रखी है.

जिसके लिए कई बार मसूरी नगर पालिका परिषद को शिकायत की गई है. वहीं मसूरी का सबसे पूराना बाजार नगर पालिका परिषद की अनदेखी के कारण विकास से कोसो दूर हो गया है. वहां आज तक पर्यटन की दृश्टि से बढ़ावा देने के लिए कोई योजना नहीं बनाई गई है. उन्होंने कहा कि जल्द वह सभी व्यापारियों को लेकर नगर पालिका परिषद के अध्यक्ष और अधिकारियों के साथ बैठक करेंगे और व्यापारियों को हो रही परेशानियों के साथ उपलब्ध की जानें वाली व्यवस्थाओं के बारे में वार्ता करेंगे. उन्होंने कहा कि मसूरी व्यापार मंडल के द्वारा जल्द बाहार से मसूरी आकर फेरी करने वाले व्यापारियों पर भी सख्ती की जाऐगी. जिससे मसूरी के व्यापारियों का व्यापार प्रभावित ना हो.


मसूरी के व्यापारी अनिल गोयल और धनप्रकाश अग्रवाल ने कहा कि मसूरी का व्यापारी मसूरी नगर पालिका परिषद के द्वारा व्यापारियों के हितो के लिए कोई ठोस नीति ना बनाने को हो रही है. पालिकाध्यक्ष मनमोहन सिंह मल्ल अपने नीजी स्वार्थ और वोटरों को लुभाने के लिए व्यापारी हितो में लिए जाने वाले ठोस निर्णय नहीं ले रहे है. जबकि उनको मालूम होना चाहिए की मसूरी की स्थानीय जनता ने उनको वोट देकर पालिकाध्यक्ष की सीट पर बैठाया है और उनकी यह जिम्मेदारी बनती है कि वह स्थानीय लोगों के साथ व्यापारियों के हितो के लिए काम करें.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here