मसूरी नगर पालिका परिषद बोर्ड बैठक में हंगामा

मसूरी नगर पालिका परिषद कि बैठक में विकास कार्यों के लेकर सभासद और पालिकाध्यक्ष के बीच में तीखी नौकझौक हुई है. जिसमें पालिकाध्यक्ष ने साफ किया कि शहर के विकास कार्यों में किसी प्रकार कि बाधा नहीं आने दी जाएगी. उन्होंने कहा कि कुछ सभासद उनपर बेबुनियादी आरोप लगाकर उनको बदनाम करना चाह रहे हैं लेकिन ऐसा होगा नहीं क्योंकि शहर की जनता जानती है कि कौन क्या कर रहा है.

मसूरी नगर पालिका परिशद बोर्ड बैठक में हंगामा massacre in the municipal council meeting board uttrakhand massacre, municipal council meeting board, uttrakhand, palika president मसूरी नगर पालिका परिषद कि बैठक में विकास कार्यों के लेकर सभासद और पालिकाध्यक्ष के बीच में तीखी नौकझौक हुई है. जिसमें पालिकाध्यक्ष ने साफ किया कि शहर के विकास कार्यों में किसी प्रकार कि बाधा नहीं आने दी जाएगी. उन्होंने कहा कि कुछ सभासद उनपर बेबुनियादी आरोप लगाकर उनको बदनाम करना चाह रहे हैं लेकिन ऐसा होगा नहीं क्योंकि शहर की जनता जानती है कि कौन क्या कर रहा है. उन्होंने कहा कि वह आरोप लगाने वाले लोगों को सर्वजनिक रूप् से चुनौती देना चहाते हैं कि वह जनता के समाने बीच चैहराहों पर खूॉुली बहस कर लें और भष्टाचार के आरोप को सिद्व करें जिससे साफ हो जाएगा कि कौन झूठा है और कौन सच बोल रहा है. उन्होंने का कि सभासद द्वारा पिछले कुछ समय से घोटाले और भ्रष्टाचार का आरोप लगाया जा रहा है लेकिन आज तक एक भी घोटाला और भ्रष्टाचार को जनता के समाने नही ला पाए और ना आज तक एक भी खुलासा कर पाए. उन्होने कहा कि आरोप लगाने वाले सभासद खुद भ्रष्टाचार और घोटाले में लिप्त हैं और उनके मुताबित काम करने का दबाब डाल कर उनको बदनाम करने की साजिश कर रहे हैं. वही बोर्ड बैठक में सभासद कुलदीप रावत ने कहा कि पालिका के अधिकारी पालिकाध्यक्ष मनमोहन सिंह मल्ल के साथ मिलकर बडे भ्रष्टाचार को अंजाम दे रहे हैं जिसको किसी भी हाल में बर्दाश्त नहीं किया जाएगा उन्होने कहा कि इसको लेकर वह उच्च अधिकारियों के मामले की शिकायत कर जांच की मांग की जाएगी. वही दूसरी ओर मसूरी नगर पालिका परिषद की सभासद शशि रावत ने पालिका में व्याप्त भ्रष्टाचार और घोटाले को लेकर पालिका कि बोर्ड बैठक का बहिश्कार कर सभासद पद से इस्तीफा दे दिया. उन्होंने कहा कि उनके द्वारा शासन प्रशासन को सबूतों के साथ नगर पालिका में व्याप्त भ्रष्टाचार और घोटालों को लेकर शासन प्रशासन से शिकायत की लेकिन किसी के द्वारा किसी भी प्रकार कि कार्रवाई नहीं की गई जिससे भ्रष्टाचार और घोटाले करने वालों के हौसले बुलंद है.
municipal council meeting board

उन्होंने कहा कि वह आरोप लगाने वाले लोगों को सर्वजनिक रूप् से चुनौती देना चहाते हैं कि वह जनता के समाने बीच चैहराहों पर खूॉुली बहस कर लें और भष्टाचार के आरोप को सिद्व करें जिससे साफ हो जाएगा कि कौन झूठा है और कौन सच बोल रहा है. उन्होंने का कि सभासद द्वारा पिछले कुछ समय से घोटाले और भ्रष्टाचार का आरोप लगाया जा रहा है लेकिन आज तक एक भी घोटाला और भ्रष्टाचार को जनता के समाने नही ला पाए और ना आज तक एक भी खुलासा कर पाए. उन्होने कहा कि आरोप लगाने वाले सभासद खुद भ्रष्टाचार और घोटाले में लिप्त हैं और उनके मुताबित काम करने का दबाब डाल कर उनको बदनाम करने की साजिश कर रहे हैं.

वही बोर्ड बैठक में सभासद कुलदीप रावत ने कहा कि पालिका के अधिकारी पालिकाध्यक्ष मनमोहन सिंह मल्ल के साथ मिलकर बडे भ्रष्टाचार को अंजाम दे रहे हैं जिसको किसी भी हाल में बर्दाश्त नहीं किया जाएगा उन्होने कहा कि इसको लेकर वह उच्च अधिकारियों के मामले की शिकायत कर जांच की मांग की जाएगी. वही दूसरी ओर मसूरी नगर पालिका परिषद की सभासद शशि रावत ने पालिका में व्याप्त भ्रष्टाचार और घोटाले को लेकर पालिका कि बोर्ड बैठक का बहिश्कार कर सभासद पद से इस्तीफा दे दिया. उन्होंने कहा कि उनके द्वारा शासन प्रशासन को सबूतों के साथ नगर पालिका में व्याप्त भ्रष्टाचार और घोटालों को लेकर शासन प्रशासन से शिकायत की लेकिन किसी के द्वारा किसी भी प्रकार कि कार्रवाई नहीं की गई जिससे भ्रष्टाचार और घोटाले करने वालों के हौसले बुलंद है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here