मसूरी में मजदूरो का जेल भरो आंदोलन

केंन्द्र की मजदूर विरोधी नीति के खिलाफ देश की ट्रेड यूनियन की समन्वय समिति ने चरणबद्ध संयुक्त संघर्ष और जेल भरो आंदोलन के फैसला लेने के बाद मसूरी में ट्रेड यूनियन के कार्यकर्ता मसूरी के पिक्चर पेलेस चैक से मसूरी केातवाली तक विरोध रैली निकालकर केन्द्र की भाजपा सरकार और प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के खिलाफ जमकर नारेबाजी की.

वहीं मसूरी के मजदूर संगठन के कार्यकर्ता मसूरी के कोतवाली पहुंचे और पुलिस से जेल भेजने के लिये ज्ञापन दिया. मजदूर नेता आर.पी.बडोनी और मौ. असलम ने कहा कि मजदूरों की अनदेखी बरदास्त नहीं की जाएगी व केंद्र सरकार की गलत नीतियों का पर्दाफाश उक्त आंदोलन के माध्यम से किया जाएगा. उन्होंने कहा कि केन्द्र सरकार की गलत नीतियों के कारण मंहगाई चर्म पर हैं. मजदूरो का हाल बेहाल है. मजदूरों को न्यूनतम तंख्वाह नही मिल रही है. वहीं मजदूरों को दी जाने वाली सुविधाओं भी समाप्त की दी गई हैं. वहीं केन्द्र सरकार और प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के द्वारा मजदूरों और देश की जनता को बेवकूफ बनाने का काम किया हैं. देश की जनता के साथ कई वायदे किये गए, परन्तु एक भी वायदा पूरा नही किया गया. उन्होंने कहा कि देश की जनता के साथ मजदूर वर्ग भी भाजपा की चाल को समझ चुकी हैं, जिसका जबाब जनता नगर निकाय और 2019 में होने वाले चुनाव में भाजपा को देने का काम करेगी.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here