मसूरी को तम्बाकू मुक्त करने के लिए रखा गया कार्यक्रम

राष्ट्रीय तम्बाकू नियंत्रण कार्यक्रम के अंतर्गत मसूरी को धूम्रपान मुक्त बनाने में जन सहभागिता हेतु प्रशिक्षण कार्यक्रम का नगर पालिका परिषद मसूरी के सभागार में आयोजित हुई. आयोजित किए गए कार्यक्रम में बतौर मुख्य अतिथि मसूरी भाजपा विधायक गणेश जोशी ने शिरकत की वहीं पालिकाध्यक्ष मनमोहन सिंह मल्ल ने कार्यक्रम की अध्यक्षता की. इस मौके पर स्वास्थ्य विभाग से आए अधिकारियों ने राष्ट्रीय तम्बाकू नियंत्रण के तहत मसूरी को धूम्रपान मुक्त करने के लिए समाजिक संगठनों के साथ आम जनता का सहयोग मांगा.

उन्होंने कहा की मसूरी में समस्त सरकारी कार्यालयों, समस्त प्राईमरी से लेकर सभी उच्च शिक्षण संस्थानों में पान, तम्बाकू, गुटखा, सिगरेट, बीड़ी आदि तम्बाकूयुक्त मादक पदार्थों का सेवन पूर्णतया वर्जित है एंव जो भी व्यक्ति उक्त सरकारी कार्यालयों, अस्पतालों, शिक्षण संस्थाओं में तम्बाकू उत्पादों का सेवन करते हुए पाया जायेगा तो उसके विरूद्ध तत्काल वैधानिक कारवाई करते हुए अर्थदण्ड वसूला जाऐगा. मसूरी विधायक गणेश जोशी ने कहा कि मसूरी को धूम्रपान मुक्त के बनाने के लिए सभी की सहभागिता जरूरी है. वहीं उन्होंने मसूरी में को पोलिथीन मुक्त करने का भी आग्रह किया उन्होंने नगर पालिका प्रशासन को निर्देश दिए कि वह मसूरी में पोलिथीन प्रयोग करने वालों के खिलाफ सख्त कारवाई करें जिससें मसूरी के सुंदरता के साथ वातावरण को संरक्षित किया जा सकेगा.

मसूरी व्यापार मंडल अध्यक्ष रजत अग्रवाल ने कहा कि मसूरी के सभी व्यापारी मसूरी को तम्बाकू और पोलिथीन से मुक्त करने में अपना अहम योगदान पूर्व से देते आए है. लेकिन कुछ ऐसे दुकानदार है तो गिलामाल बेचते है ऐसे में उनके लिए कोई और वैक्लपिक व्यवस्था कर मसूरी को पोलिथीन से मुक्त करने का पूरा प्रयास किया जायेगा.

एसीएमओ बिरेंन्द्र सिंह जगंपाजी ने कहा कि मसूरी में सिगरेट और अन्य तम्बाकू उत्पाद (विज्ञापन का प्रतिषेध और व्यापार तथा वाणिज्य उत्पादन, प्रदाय और वितरण का विनियमन) अधिनियम-2003 लागू हो गया है. इसके लिए जनजागृति आवश्यक है. उन्होंने कहा कि सभी विद्यालयों में इसका व्यापक प्रचार-प्रसार कराया जायेगा तथा शहर में समस्त अधिकारियों कर्मचारियों को इस विषय में जानकारी देते हुए जागरूक किया जाए. उन्होंने कहा कि उक्त अधिनियम का कड़ाई से अनुपालन करने की दिशा में लगातार स्वास्थ्य विभाग की टीम समय-समय पर मसूरी और आसपास के क्षेत्र में कारवाई कर लोगों से तम्बाकू का प्रयोग करने पर जुर्माना वसूल कर रही है. उन्होंने कहा कि सार्वजनिक स्थलों, तम्बाकू निषिध क्षेत्रों में यदि कोई व्यक्ति सेवन करते हुए पाया गया तो उसके विरूद्ध अधिनियम की धारा-21 के अनतर्गत 200 रूपये तक का जुर्माना तथा दण्डात्मक कारवाई दोनो हो सकती है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here