महाशिवरात्रि के उपलक्ष्य पर सितारगंज में निकली कलश यात्रा

महाशिवरात्रि के उपलक्ष्य में सितारगंज के आधा दर्जन गांव की सैकड़ों महिलाओं ने कलश यात्रा निकाली. बघोरी गांव में बने शिव मंदिर में सैकड़ों महिलाओं ने जल से भरे कलश पैदल पहुंच कर रखे. सभी सैकड़ों महिलाओं द्वारा पैदल चलकर चिकाघाट की कैलाश नदी से कलशों में जल भरकर बिष्टी चौराहे से होते हुए शिव मंदिर बघोरी पहुंचे. बघोरी मंदिर में 2 दिन भंडारा व होगा रुद्राक्ष अभिषेक चलेगा और उसके उपरांत 14 फरवरी को बारह राणा स्मारक सिडकुल में बने शिवमंदिर में शिवलिंग पर आहुति भी दी जाएगी. रूद्राक्षों से बने शिवलिंग पर जल अभिषेक किया जाएगा.

महाशिवरात्रि पूजा के उपलक्ष्य में सितारगंज की आधा दर्जन गांवों के सैकड़ों शिवभक्तों ने कलश यात्रा निकाली. सैकड़ो महिलाओं ने चिकाघाट पहुंचकर कैलाश नदी से कलशों में जल भरकर पैदल कलश यात्रा निकालकर बिष्टि चौराहा होते हुए बघोरी शिव मंदिर पहुंचकर जल से भरे कलश रखे. बारह राणा स्मारक समिति सिडकुल सितारगंज के अध्यक्ष श्रीपाल सिंह राणा ने बताया कि महाशिवरात्रि के उपलक्ष्य में सोमवार को कलश यात्रा निकाली गयी हैं.

पूरे समाज की तरफ से सितारगंज व खटीमा में एक साथ कई शिवमंदिरों में कलश यात्राएं निकली गयी है. 2 दिन तक शिवभक्त रूद्राक्षों से बने शिवलिंग की पूजा अर्चना की करेंगे. वहीं दो दिन बाद जल अभिषेक किया जायेगा. क्षेत्र के शिवमंदिरों में 2 दिन भंडारा होगा. 14 फरवरी को बारह राणा स्मारक में बने शिवमंदिर में पुन्हे आहुति दी जायेगी और जल अभिषेक किया जायेगा. वहीं लाखों रूद्राक्षों से बने शिवलिंग की पूजा अर्चना की जायेगी और विशाल भंडारा होगा.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here