मसूरी विंटर कार्निवाल में पहुंचे जागर सम्राट प्रीतम भरतवाण

25 दिसंबर से चल रहे मसूरी विंटर कार्निवाल का शनिवार को देर रात को समापन हो गया. कार्निवाल की अंतिम संध्या पर जागर सम्राट प्रीतम भरतवाण के लोग गीतों और जागर पर श्रौता जमकर थिरके. पत्रकारों से बातचीत करते हुए प्रीतम भरतवाण ने कहा कि देश-विदेश से मसूरी आने वाले पर्यटक मसूरी के प्राकृतिक सौंदर्य ओर हरेभरे पहाड़ को देखने के साथ यहां कि पारम्परिक संस्कृति से रूबरू होने के लिए आते है.

jagar samrat pritam bharat mussoorie winter carnival festival, mussoorie, winter carnival, uttarakhand, jagar samrat
mussoorie

जिसको देखते हुए शासन प्रशासन द्वारा मसूरी में विंटरलाइन कार्निवाल का आयोजन किया जाता है. वही स्थानीय कलाकारों के साथ पर्वतीय सांस्कृति को महत्व दिया जाता है. जिससे स्थानीय कलाकारों का मनोबल बढ़ता है. उन्होंने सभी को नये साल की शुभकामनाएं देते हुए कहा कि कलाकार कि असली पहचान मंच पह होती है. जिस वक्त वह दर्शकों के सामने अपनी कला का प्रदर्शन करता है वही कलाकार होता है. उन्होंने कहा कि आज के युग में कई लोग महीनों की साहयता लेकर अपनी कला दिखाने की कोशिश करते है. परन्तु वह असली में कलाकार नहीं हे. उन्होंने कहा कि नये साल में वह अपनी सांस्कृति और परम्पराओं पर आधारित कई गीत और जागर देने जा रहे है और उनको उम्मीद है कि लोगों को वह जरूर पंसद आयेंगे.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here