सितारगंज में निकली गई जिया रानी की शोभा यात्रा

धर्म जागरण समन्वय, उत्तराखंड द्वारा आयोजित जिया रानी शोभायात्रा पहुंची सितारगंज जिसका शुभारम्भ खटीमा से शनिवार सुबह हुआ. खटीमा से रामनगर व रामनगर से हल्द्वानी होते हुए यात्रा काठगोदाम रानी बाग जिया रानी गुफा पर पहुंच कर सम्पन्न होगी. इस यात्रा में सैकड़ों नगरवासियो ने पहुंचकर यात्रा की शोभा बढ़ाई और फूलों की बारिश की.

कुमाऊं की वीर महारानी जिया रानी की शोभा यात्रा सितारगंज पहुंची जिसका यहां पर जोरदार स्वागत किया गया. पूरे नगर में घूमती हुई किच्छा की ओर रवाना हो गयी है. कार्यक्रम सहयोजक महेन्द्र चौधरी ने बताया कि धर्म जागरण समन्वय, उत्तराखंड के तत्वावधान में शनिवार सुबह से जिया रानी की शोभा यात्रा खटीमा से शुरू हुई है. जोकि सितारगंज, किच्छा, रुद्रपुर, गदरपुर, काशीपुर होती हुई रामनगर पहुंचेगी. जो रामनगर होते हुए हल्द्वानी से काठगोदाम रानी बाग जिया रानी की गुफा पहुंचकर समाप्त होगी.

वही उन्होंने जिया रानी का इतिहास बताते हुए कहा कि जिया महारानी हरिद्वार की रहने वाली थी. उनके द्वारा रानी बाग जो काठगोदाम में है को लगवाया था उन्होंने मुगलो को हराया था. जिस कारण जब महारानी जिया रानी बाग में नहाने जा रही थी तो मुगलो ने उनपर आक्रमण कर दिया था. उन्होंने नदी की चट्टानों में ही अपने आप को समा लिया जिसपर मुगलों ने रानी को बहुत ढूढ़ा लेकिन रानी नहीं मिली, तब से ही यहाँ हर वर्ष रानी के बाग में एक मेला लगता हैं. वही जाकर इस शोभायात्रा का समापन शानिवार देर शाम को होगा.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here