मसूरी में होटल मालिक और स्थानीय लोगों का विरोध प्रदर्शन

मसूरी में होटल रेस्टोरेंट मालिकों के साथ स्थानीय लोगों ने प्रशासन द्वारा नऐ साल मनाने के लिए देहरादून से मसूरी आने वाले पर्यटको को कुठालगेट पर रोके जाने और मसूरी से 4 किलोमीटर गज्जी बैंड से हाथीपंवा पर पुलिस द्वारा ट्रैफिक को डाईवर्ट करने पर मसूरी होटल एसोसिएशन, रेस्टोरेंट मालिकों और स्थानीय लोगों ने मिलकर रविवार को देर शाम सरकार और प्रशासन के खिलाफ मसूरी पिक्चर पेलेस से गांधी चौक तक केंडल मार्च निकाल कर अपना विरोध प्रकट किया.

exhibition of hotel owners and local people in mussoorie mussoorie, people, owners, hotels, goverment, bjp, congress
hotels

उत्तराखण्ड होटल एसोसिएशन के अध्यक्ष संदीप सहानी और मसूरी होटल एसोसिएशन के अध्यक्ष आरएन माथूर ने बताया कि प्रसाशन और पुलिस के द्वारा बिना उनको बताए मसूरी आने वाले ट्रैफिक को एकाएक गजजी बैंड से डाइवर्ट कर दिया गया और साथ ही कई प्रयटको को देहरादून मसूरी रोड पर कुठालगेट से ही वापस कर दिया गया. प्रसाशन की इस हरकत से मसूरी के व्यवसाय को खासा फरक पड़ा है.

उन्होंने बताया कि पुलिस द्वारा नए साल के लिये तैयार किया गया एक्शन प्लान पूरी तरह से फेल हुआ है. जिस कारण देश-विदेश से मसूरी आने वाले प्रयटको को खासी दिक्कते हुई है. उन्होंने कहा कि प्रदेश सरकार द्वारा मसूरी की उपेक्षा की जा रही है. जिस कारण मसूरी में स्वास्थ्य, पार्किंग, पेयजल आदि की समस्याओं से जूझ रहा है,लेकिन प्रदेश सरकार इस ओर ध्यान नहीं दे रही है.

जिससे मसूरी के व्यवसाय में खासा नुकसान हो रहा है. उन्होंने कहा कि प्रदेश की आर्थिक प्रयटन पर आधारित है. ऐसे में प्रदेश सरकार को प्रयटन को बढ़ावा देने के लिए प्रयटन से जुडे़ क्षेत्रों को विकसित कर मूलभूत सुविधाएं उपलब्ध करवानी चाहिए. उन्होंने कहा कि मसूरी में वेंडर जोन नहीं होने से माल रोड अतिक्रमण की चपेट में है, जिससे यहां आने वाले पर्यटकों का आकर्षण भी घट रहा है. उन्होंने कहा कि अगर सरकार द्वारा जल्द मसूरी के विकास के साथ मूलभूत सुविधाएं उपलब्ध कराने को लेकर कोई ठोस कदम नही उठाया जता तो आने वाले समय में होटल एसोसिएशन के साथ अन्य संगठन मिलकर सरकार के खिलाफ उग्र आनदोलन करेंगे.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here