सितारगंज: डंपर मालिकों ने खनन पट्टे खोलने की मांग की

सितारगंज के उकरोली की नंदोर नदी व साधुनगर में कैलाश नदी में निजी खनन के पट्टो को प्रशासन द्वारा न खोले जाने पर सैकड़ो डंपर मालिको व मजदूरों ने तहसील में पहुंच प्रशासन के खिलाफ धरना प्रदर्शन किया. डंपर मालिको व मजदूरों ने एसडीएम सितारगंज को मुख्यमंत्री संबोधित ज्ञापन सौंपा. जल्द निजी खनन पट्टो को खोलने की मांग की. अगर जल्द खनन पट्टे नहीं खुले तो वाहनों को तहसील में खड़ा कर चाबियां एसडीएम सितारगंज में जमा करने की चेतावनी दे दी है.

सितारगंज के उकरोली की नंदोर नदी व साधुनगर में कैलाश नदी में निजी खनन के पट्टे प्रशासन के द्वारा अभी तक न खोले जाने को लेकर डंपर मालिको व मजदूरों ने आज तहसील परिसर में जमकर हंगामा काटा. डंपर मालिको का कहना है कि नंदोर नदी व कैलाश नदी में 1अक्टूबर को खनन के पट्टो को प्रशासन खोल देता था, लेकिन ऐसा क्या हुआ कि अभी तक निजी खनन के पट्टो को नहीं खोला गया है. डंपर मालिक व मजदूर भुखमरी की कगार में है. वाहनों के लिए बैंको से जो ऋण लिए हुए है उनकी किस्तें टूट रही है. खनन का व्यवसाय बिलकुल खत्म हो गया है. अगर जल्द खनन के पट्टे नहीं खुले तो लोग हल्द्वानी के ट्रांस्पोटर व्यवसाई की तरह आत्म हत्या करने को मजबूर हो जाएंगे. इसलिए जल्द से जल्द खनन के पट्टो को खोला जाए। वही उनका कहना था कि अगर जल्द खनन के पट्टे नहीं खुले तो सारे वाहनों को हम लोग तहसील परिसर में लाकर खड़ा कर देंगे और उनकी चाबियां एसडीएम कार्यालय में जमा करा देंगे और जब तक खनन के पट्टे नहीं खुलते तब तक वाहनों की किस्त एसडीएम ही भरेंगे. हम सब सड़कों पर उतरने को मजबूर हो जाएंगे.

वहीं एसडीएम सितारगंज विनोद कुमार का कहना था कि डंपर मालिकों ने खनन पट्टों को खोलने से संबंधित मुख्यमंत्री को संबोधित ज्ञापन दिया है. जिसमें खनन के पट्टों को खोलने को कहा गया है. उकरोली की में चार पट्टे स्वीकृत है. जिसमें एक कुमाऊ मंडल का पट्टा चल रहा है. साधु नगर में 5 पट्टे स्वीकृत है जिसमें 3 पट्टे खुले है. बाकी जो खनन के पट्टे नहीं खुले है. उसकी रिपोर्ट प्रशासन को भेजी जा चुकी है. नंदोर नदी में वन विभाग जो केंद्र सरकार के अधीन है वह वन विभाग द्वारा पट्टे स्वीकृत किये जाने है. जल्द ही स्वीकृत पट्टे खोले जाएंगे.

जनहित खबर के लिए चरन सिंह रिपोर्ट 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here