मसूरी में ठेकेदारों ने किया प्रदर्शन

मसूरी में ठेकेदार कल्याण समिति ने अपना बकाया भुगतान समेत आठ सूत्रीय मांगों को लेकर सरकार के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है. लंबित भुगतान की मांग और टैंडर प्रक्रिया में सुधार, पंजीकरण, जीएसटी में छूट दिए जाने समेत अन्य मांगों पर चर्चा के बाद भी कार्रवाई न होने से ठेकेदार सरकार से खफा हैं. जिसके तहत ठेकेदारों ने मसूरी में आकर विभिन्न विभागों के द्वारा किये जा रहे निर्माण कार्यो को रूकवाया गया तो कई जगहों पर निर्माण को ध्वस्त किया गया. वहीं ठेकेदारों ने प्रदेश सरकार के खिलाफ जमकर नारेबाजी कर सरकार पर ठेकेदारों की अनदेखी करने का आरोप लगाया. ठेकेदारों ने कहा की प्रदेश की सरकार अफसरशाहों की हाथ की कटपुतली बनकर रह गई है. वह पूर्व में बड़े घोटले और भ्रष्टाचार को अंजाम देने वाले अफसर को वर्तमान सरकार ने संरक्षण देने का काम कर रही है. उन्होंने कहा की अगर सरकार ने जल्द उनकी मागें पूरी नहीं की तो वह अपने आंदोलन को उग्र रूप देगें. वह पूरे प्रदेश के पीडब्ल्यूडी और सिंचाई मुख्यालय में तालाबंदी करेंगे और चेतावनी दि की प्रदेश में चल रहे सभी कार्यों को रोक देंगे.

अध्यक्ष गोविंद सिंह पुंडीर ने कहा की सरकार उत्तराखंड के लोगों को पलायन करने पर मजबूर कर रही है. वह छोटे-छोटे टैंडरों को बाहर की कंपनियों को देकर यहां के ठेकेदारों को बेरोजगार करने का काम रही है. उन्होंने कहा की सरकार की नीतियों के ठेकेदारों की बुरी स्थिति हो गई है. पुराने कामों का भुगतान करने की बजाए ठेकेदारों का उत्पीड़न किया जा रहा है. उन्होंने कहा की ठेकेदार सरकार से नहीं है पर सरकार बिना ठेकेदार के नहीं चल सकती है. उन्होंने कहा की अगर ठेकदारों की मांग को जल्द पूरा नहीं करती तो सरकार के खिलाफ हो रहे आंदोलन को और उग्र रूप दिया जायेगा.

वहीं महासचिव राजेंद्र सिंह कुंवर ने कहा की यह सरकार हमारी अनदेखी कर रही है. सरकार हमसे बात करने को तैयार नहीं है. उन्होंने कहा की अगर सरकार ने हमारी मांगों को नहीं माना तो हम उग्र प्रदर्शन करेंगे. इस मौके पर रमेश कठैत, संतोश थापली, योगेश चाया, बलदेव सिंह थापली, बिशन सिंह मोनरा, सुरत सिंह, गजेंन्द्र सिंह नेगी, अशोक, सुरेन्द्र सिंह कई ठेकेदार मौजूद थे.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here