हवा-हवाई साबित हुआ सीएम का दौरा, जनता हुई मायूस

जनहित कल्याण समिति के अध्यक्ष सलीम रिजवी ने सोमवार को प्रेस कॉन्फ्रेंस की, इस दौरान उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री का सितारगंज दौरा साबित हवा हवाई साबित हुआ है. उन्होंने कहा कि क्षेत्र की जनता के हाथ सिर्फ मायूसी और सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र की बदहाली हाथ लगी है. क्षेत्र की टूटी सड़के, सरकारी बस अड्डा निर्माणाधीन, हाईटेक शौचालय में लाखों का घपला आदि हुआ है लेकिन मुख्यमंत्री ने कोई भी सौगात सितारगंज वासियों को नहीं दी है. किसानों द्वारा गन्ने की चीनी मिल चलाने की मांग को लेकर अनशन पर बैठे किसानों को भी नहीं चलाने की बात कही गई जिससे किसानो को खासा निराशी हुई है.

cm trivendra singh rawat didnt announce polocy sceame in sitargand visit cm trivendra singh rawat dint announce policy scheme in sitarganj visit cm, trivendra singh rawat, announce policy, scheme, sitarganj visit, uttrakhand, uk government
saleem rizvi

सलीम रिजवी ने कहा कि मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत का 16 दिसम्बर का सितारगंज दौरा लोगों के लिए बेकार साबित हुआ है. उन्होंने कहा कि क्षेत्र की जनता को मुख्यमंत्री से काफी उम्मीदें थी लेकिन मुख्यमंत्री ने क्षेत्र के विकास के लिए एक भी घोषणा ऐसी नही की कि जनता को कुछ संतोष मिल सके. लोगों को उम्मीद थी कि सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र का उच्चीकरण होगा और सीएम सितारगंज का सरकारी बस अड्डा जो दो साल से निर्माणाधीन है उसे पूरा करने की घोषणा करेंगे साथ ही जो सितारगंज में दो हाई टेक शौचालय बनाए गए हैं जिसकी एक कि लागत 22 लाख रुपये है लेकिन दोनों शौचालयों में लाखो का घोटाला हुआ है उसकी जांच की बात सीएम करेंगे लेकिन ऐसा कुछ भी सीएम ने नहीं किया है.

वही किसानों व मजदूरों द्वारा सितारगंज चीनी मिल को पीपी मोड़ के सरकार के फैसले पर लगातार विरोध प्रर्दशन व अनशन किया जा है। लेकिन मुख्यमंत्री द्वारा सिर्फ किसानों को यह कर टाल दिया गया. वही क्षेत्र व नगर की सड़कों में इतने गड्डे हो चुके है कि वाहनों का निकलना मुश्किल होता जा रहा है. इस सब के बीच पीडब्लूडी विभाग भी सोता दिखाई दे रहा है. मुख्यमंत्री के आने पर ही नगर की सड़को पर लीपा पोती होती है और उसके बाद सड़कों की सूरत बदहाल हो जाती है. ऐसे में सीएम द्वारा सिर्फ सितारगंज के लोगों को मायूसी हाथ लगी है.

जनहित खबर के लिए चरन सिंह की रिपोर्ट

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here