उत्तरकाशी: कृषि एवं उद्यान सचिव डी. सेन्थिल पाण्डियन बोले 2022 तक आमदनी को दो गुना करना हैं लक्ष्य

प्रदेश के कृषि एवं उद्यान सचिव डी. सेन्थिल पाण्डियन ने देश के प्रधानमंत्री के न्य इंड़िया कार्यक्रम के तहत संकल्प से सिद्धि के क्रम में कृशकों की आय 2022 तक दो गुना करने के उद्देश्य से मंगलवार को उत्तरकाशी चिन्यालीसौड पहुंच कर जनपद में इस महत्वकांक्षी योजना पर कार्य शुभारंभ किया. जिसके तहत तहसील डुण्डा के ग्रामसभा अस्तल में किसान फार्म मशीन बैंक एंव देवीदार में रेशम फार्म का निरीक्षण कर इससे जुडे समुह एवं कास्कारों से उनके आमदनी के बारे में जानकारी ली.

कास्तकारों को अच्छी आमदनी के लिए उन्हें उन्नत गुणवत्ता की फसल की पैदावारी करने को कहा साथ ही मशरूम एवं मौन पालन के बारे में भी कास्त को बढावा देने की बात कही. उन्होने कास्तकारों को 2022 तक आमदनी को दो गुना करने के लिए कृषि कास्त में बदलाव लाने को कहा. चिन्यालीसौड में प्रेस से एक मुलाकाल के दौरान पाण्डियन ने कहा कि राज्य के कृशकों की आमदनी को दो गुना करने के लिए शासन में 15 रेखीय विभागों की योजना बनाये गये हैं. इस कार्यक्रम को धरातल पर उतारने के लिए आज जनपद में संबंधित विभागाध्यक्ष को साथ लेकर स्थलीय निरीक्षण एवं जिला स्तरीय अधिकारी के साथ बैठक कर रहे हैं. उन्होंने कहा कि स्थलीय निरीक्षण के दौरान स्थानीय कास्तकारों के साथ गोश्ठी कर उनके खेती से आय को दोगुना करने हेतु क्षेत्र के अनुरूप सुझाव भी लिया जा रहा हैं. यहां पर कास्तकारों के ओर सामुहिक एवं चकबंदी खेती के मांग आ रहा है. जिसको लेकर राजस्व विभाग के साथ बैठक किया जाना हैं. उन्होंने कहा 2022 तक किसानो के आय को दोगुना करने हेतु इस महत्वकांक्षी योजना के शीघ्र सक्रियता से धरातल पर उतारा जायेगा.

इसके उपरान्त सचिव पाण्डियन ने अस्तल गांव में राज राजस्वरी स्वयं सहायता समुह के किसान फार्म मशीनरी बैंक का निरीक्षण किया. निरीक्षण के दौरान उन्होंने समुह के अध्यक्ष श्रीमती ममता भट्ट से किसान फार्म मशीनरी बैंक से आमदनी के बारे में जानकारी ली. जिस पर उन्होंने बताया कि गत माह को पावर वीडर एवं पावल टिलर मषीनों को कास्त हेतु किराये पर देने से एक लाख से अधिक की आमदनी हुई जिससे समुह ने दो गाय खरीद कर समुह के सदस्यों को दी एवं समुह द्वारा ग्रामीणों की खेत को अनुबंध में लेकर कास्त किया जा रहा है, कास्त में अच्छी आमदनी ने होने पर सचिव पाण्डियन ने कहा कि आधुनिक तकनीकीय से कृषि कार्य को बढावा दें एवं उत्तम किस्म एवं नगदी फसल की ओर रूख करें.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here