मसूरी में फिल्म ‘पद्मावत’ का विरोध

देश के कई राज्यों में विरोध प्रदर्शन के बीच गुरुवार को पद्मावत मसूरी के सिनेमाघरों में हिन्दु जागरण मंच के कार्यकर्ताओं के विरोध प्रदर्शन के बाद प्रदर्शित हो गई है. उच्चतम न्यायालय से संजय लीला भंसाली की विवादास्पद फिल्म ‘पद्मावत’ को रिलीज करने की हरी झंडी मिलने के बावजूद मसूरी में फिल्म को लेकर भारी विरोध प्रदर्शन हुआ और शिव सेना के कार्यकर्ताओं ने जमकर फिल्म ‘पद्मावत’ को दिखाए जाने पर विरोध प्रदर्शन किया. हिन्दु जागरण मंच ने अध्यक्ष कुलदीप जदवान और त्रिलोक राणा ने कहा कि पद्मावती के इतिहास के साथ छेड़छाड़ कर लोगों की भावनाओं के साथ खेलने की कोशिश की गई जिसको किसी भी हाल में बरदाश्त नहीं किया जाऐगा.

बता दे कि फिल्म को लेकर लगातार हो रहे विरोध को देखते हुए इसका नाम ‘पद्मावती’ से बदलकर ‘पद्मावत’ किया गया. इसके अलावा इसमें और भी काफी बदलाव किए गए. इसके बावजूद राजपूत समाज की ओर से इसका विरोध कम नहीं हो रहा है. वहीं फिल्म के प्रति लोगों के विरोध को देखते हुए मसूरी में अतिरिक्ति पुलिसबल तैनात किए गए है. वहीं मसूरी के सिनेमा हालों के अंदर बाहर सुरक्षा के लिए पुलिस के जवान तैनात किये गए है.

 

मसूरी कोतवाल भावना केन्थूला ने बताया कि फिल्म ‘पद्मावत’ के प्रदर्शन के लिए सुरक्षा के कड़े इंतजाम किए हैं. उपद्रवियों से निपटने के लिए अतिरिक्त पुलिस जवान तैनात कीए गए हैं. वहीं उन्होंने कहा कि उपद्रव करने वालों को बख्शा नहीं जाएगा. वहीं सिनेमाघरों के बाहर ही नहीं बल्कि भीतर भी सुरक्षा के व्यापक बंदोबस्त किए गए हैं, ताकि उप्रद्रवी टिकट लेकर सिनेमाघर के अंदर पहुंच कर किसी तरह की गड़बड़ी न कर सकें. इसके लिए सिनेमाघरों के अंदर भी सुरक्षाकर्मियों की तैनाती की गई है.

मसूरी रिट्स सिनेमा के प्रबंधक ने कहा है कि उनके हाल में पद्मावत को रिलीज कर दिया गया है. वह सिनेमा हाल की सुरक्षा के भारी पुलिस बल तैनात किया गया है. उन्होंने कहा कि पहले शो में विरोध प्रदर्शन को देखते हुए कुछ ही दर्शक फिल्म देखने के लिए पहुंचे लेकिन उनको उम्मीद है कि लोग फिल्म को देखने के लिए जयादा संख्या में हाल का रूख करेंगे.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here