नगपुर का पहला इलेक्ट्रॉनिक व्हीकल चार्जिंग स्टेशन शुरू

कार्बन उत्सर्जन कम करने में भारत ने एक कदम आगे बढ़ाया है। इसके तहत भारत के मुख्य तेल कंपनी इंडियन ऑयल कॉरपोरेशन ने रविवार को अपना पहला बिजली चालित वाहनों को चार्ज करने का केंद्र नागपुर में शुरू किया। इंडियन ऑयल कॉरपोरेशन ने यह इलेक्ट्रॉनिक व्हीकल चार्जिंग स्टेशन ओला कंपनी के साथ साझेदारी में स्थापित किया है।

आईओसी के अनुसार नागपुर भारत का पहला शहर बनेगा जहां पर बिजली से चलने वाले वाहन सार्वजनिक परिवहन मॉडल को अमल में लाया जाएगा। पिछले साल हुए संसद के सत्र में तत्कालीन परिवहन मंत्री नितिन गडकरी ने कहा था कि वह बैटरी चार्जिंग स्टेशन स्थापित करना चाहते हैं और लिथियम आयन बैटरी के लिए बाजार में संभावना तलाश रहे हैं। जिसके बाद सरकार ने एक लक्ष्य रखा कि वह 2020 तक भारत में 20 से 30 लाख इलेक्ट्रॉनिक और हाइब्रिड वाहन सड़क पर उतार देगी। भारत सरकार का 2030 तक शत प्रतिशत इलेक्ट्रॉनिक और हाइब्रिड वाहन सड़क पर उतारने का लक्ष्य है।

हाल ही के दिनों में देखा गया है कि हर जगह प्रदूषण से होने वाला स्मॉग एक आम समस्या बन चुका है। जहां दिल्ली में पिछले कुछ हफ्तों से हवा में जहर घोल रखा था, तो वहीं मुंबई जैसे शहरों में भी इसका असर देखने को मिला। ऐसे में इलेक्ट्रॉनिक व्हीकल से कुछ हद तक राहत मिलने की उम्मीद है और साथ ही तेल का आयात कम होगा जिससे भारत के खजाने पर कम बोझ पड़ेगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here