चारा घोटाला: हो गया फैसला, लालू को 3 साल की सजा, 5 लाख जुर्माना, जा सकते हैं हाईकोर्ट, तेजस्वी ने लगाए आरोप

चारा घोटाला मामले में आरजेडी प्रमुख लालू यादव को सीबीआई की स्पेशल कोर्ट ने साढ़े तीन साल की सजा सुना दी है. इसके साथ ही लालू यादव पर 5 लाख रुपए का जुर्माना भी लगाया गया है. कुछ दिनों तक सजा टालते टालते शनिवार को लालू यादव को सजा सुना दी गई है. पहले सजा 3 जनवरी को सुनाई जानी थी लेकिन यह टाल दी गई थी. कोर्ट ने अपना फैसला सुरक्षित रखा हुआ है माना जा रहा है कि चारा घोटाला मामले में लालू यादव पर 4 बजे फैसला सुनाया जा सकता है.

इस मामले में लालू यादव के बेटे और बिहार के पूर्व डिप्टी सीएम तेजस्वी का कहना है कि वह कोर्ट के फैसले का सम्मान करते हैं. लालू यादव पर जो भी फैसला आया है वह उन्हें मान्य है. लालू यादव के फैसले को कॉपी आने के बाद वह हाईकोर्ट में लालू यादव के लिए अपील करेंगे. इस दौरान उन्होंने आरोप लगाया है कि सीबीआई का दुरुप्योग किया गया है. बिहार में कई और भी कई सारे घोटाले हैंं लेकिन उसमें कोई भी कार्रवाई नहीं की जा रही है यहां तक की सृजन घोटाले में कोई कार्रवाई नहीं की जा रही है. तेजस्वी ने कहा कि बिहार में घोटालों की लाइन लगी हुई है लेकिन उसमें कोई भी कार्रवाई नहीं की जा रही है. तेजस्वी यादव ने कहा की नीतीश कुमार लालू यादव के आशीर्वाद से बने थे सीएम. आरजेडी ना ही झूकेगी ना ही टूटेगी ऐसा कहना है बिहार की पूर्व सीएम रह चुकी राबड़ी देवी का.

तेजस्वी ने कहा कि नीतीश कुमार को सबसे ज्यादा परेशानी लालू यादव से था. यह सब कुछ नीतीश कुमार का किया धरा है और लालू यादव पर गहरी साजिश की गई है. तेजस्वी के अनुसार नीतीश कुमार बहुत ज्यादा शातिर हैं.तेजस्वी ने आरोप लगाया कि नीतीश कुमार इस वक्त लालू जी के आर्शीवाद से सीएम बनकर बैठे हुए हैं. लेकिन नीतीश कुमार पुराना वक्त भूल गए हैं. लालू यादव हमेशा गरीबों के हित के लिए लड़ाई की है लेकिन नीतीश कुमार हमेशा लालू यादव के खिलाफ साजिश सचते रहते हैं. तेजस्वी ने कहा कि लालू यादव के जेल जाने के बाद दूसरे दल सोच रहे हैं कि आरजेडी टूट जाएगी तो ऐसा बिल्कुल गलत है. तेजस्वी ने कहा कि लालू यादव के साथ हम हमेशा खड़े हुए हैं और हर छोटी से बड़ी कुर्बानी के लिए वह तैयार हैं.

दूसरी तरफ आरजेडी में मची हुई खलबली को लेकर आगे की रणनीति तैयार की जा रही है. इस मामले में पूर्व मुख्यमंत्री राबड़ी देवी सरकारी आवास पर आरजेडी नेताओं के बीच में बैठक कर रही हैं. इस बैठक में बड़ी संख्या में आरजेडी नेता और कार्यकर्ता हिस्सा ले रहे हैं. आरजेडी प्रदेश अध्यक्ष रामचंद्र पूर्वे की तरफ से यह कहा गया है कि बैठक पूर्व निर्धारित थी. जिसमें पार्टी को मजबूत करने और भविष्य की रणनीति पर विचार क्या है. माना जा रहा है कि बैठक का मुख्य उद्देश्य है कि लोगों को यह बताया जाए कि लालू यादव के जेल जाने के बाद भी आरजेडी पूरी तरह से स्वस्थ रहेगी और आरजेडी किसी भी स्थिति से निपटने के लिए हमेशा तैयार रहेगी.

बैठक में अपनी मौजूदगी दर्ज कराने वाले कार्यकर्ता यह कह रहे हैं कि उनमें लालू है और सभी आरजेडी कार्यकर्ताओं में लालू यादव हैं. बैठक में पहुंचने वाले कार्यकर्ताओं द्वारा यह कहा गया है कि लालू यादव कहीं भी रहे लेकिन उनकी नीति और सिद्धांत हमेशा उनके साथ रहेंगे और आरजेडी पार्टी को आगे बढ़ाएंगे. बैठक में राबड़ी देवी, तेजस्वी यादव, तेज प्रताप यादव, रघुवंश प्रसाद सिंह समेत आरजेडी के सभी वरिष्ठ नेता अपनी मौजूदगी दर्ज करा रहे हैं. पूर्व मुख्यमंत्री और लालू यादव के बेटे तेजस्वी यादव के नेतृत्व में यह बैठक हो रही है. जिसमें पार्टी के सभी सांसद विधायक पार्षद आदि को न्योता दिया गया है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here