अन्ना हजारे: देश को फिर से आंदोलन की जरूरत

समाजसेवी अन्ना हजारे ने मोदी सरकार पर आरोप लगाते हुए कहा है की केंद्र सरकार भ्रष्टाचार को रोकने में विफल रही है. अन्ना हजारे एक बार फिर से जन लोकपाल बिल और किसानों के मुद्दे को लेकर दिल्ली मैं आंदोलन शुरू करने वाले हैं. इसकी शुरुआत अन्ना हजारे अगले साल 23 मार्च शहीद दिवस पर करेंगे. इसका ऐलान अन्ना हजारे ने महाराष्ट्र के रालेगण सिद्धि की एक सभा के दौरान किया.

anna hazare

अन्ना ने कहा कि उन्होंने बहुत समय पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को इन सभी मुद्दों पर चिट्ठी लिखी थी. जिसका जवाब अभी तक नहीं मिला है. अन्ना हजारे ने यूपीए सरकार के दौरान भी अगस्त 2011 में दिल्ली के रामलीला मैदान में 12 दिन तक अनशन किया था. इस आंदोलन में अन्ना के सहयोगी ने इसमें उनका साथ दिया था.

केंद्र में एनडीए की सरकार बनने पर देश के लोगों में एक नई आकांक्षा थी. लेकिन तीन साल बीत जाने पर मोदी सरकार ने ना तो लोकपाल कानून लागू किया ना ही भ्रष्टाचार पर रोक लगाने में कोई कदम उठाया है. सत्तारूढ़ राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन सरकार ने लोकपाल कानून की धारा 44 में बदलाव करके इसे और भी कमजोर कर दिया है. मुझे लगता है की इस स्थिति में देश को एक और आंदोलन की जरुरत है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here