बिहार में दूसरा आंखफोड़ कांड, प्यार को दी गई खौफनाक सजा

बिहार में एक बार फिर से प्यार करने वाले जोड़े को ऐसी सजा दी गई है. इसे पढ़कर आप दंग रह जाएंगे. इससे पहले बिहार के भागलपुर में हुआ अंखफोड़वा कांड आपको कोई याद ही होगा. उस समय बिहार में पुलिस वाले और हम लोग किसी अपराध की सजा आंख फोड़ कर देने लगे थे. बिहार के इस कांड पर एक पिक्चर भी बनाई गई थी, जिसका नाम गंगजल था. बीते शनिवार को बेगूसराय में एक ऐसी ही घटना सामने आई है. एक विवाहित से प्यार करने पर एक युवक की आंखों में तेजाब डाल दिया गया. जिस कारण युवक की आंखों की रोशनी चली गई. इस दर्द भरी घटना के आरोपी दयाराम सिंह को देर रात बिहार पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया. इस घटना में घायल हुए युवक का इलाज सरकारी अस्पताल में चल रहा है.

यह घटना बेगूसराय के तेघड़ा थाना क्षेत्र की है. औरैया के रहने वाले गौतम बरौनी जोकि फ्लैग निवासी दयाराम सिंह के यहां पर ट्रैक्टर चलाता था. गौतम को अपनी ही मालकिन से प्यार हो गया था. बीती 6 फरवरी 2018 को मालकिन और गौतम घर से फरार हो गए थे. इसकी रिपोर्ट 3 अप्रैल की प्राथमिकता तेघड़ा थाना में दर्ज कराई. इस रिपोर्ट में गौतम कुमार को आरोपी बनाया गया. जिसके महज 10 दिनों बाद 16 फरवरी को दया राम की पत्नी तेघड़ा थाने में पहुंची और पुलिस के समक्ष बयान दिया कि वह गौतम के साथ अपनी मर्जी से भागी थी. वतन की मालकिन का बयान न्यायालय में भी कराया गया. जिसके बाद न्यायालय के आदेश पर महिला को पति के साथ घर भेज दिया गया.

बीते शुक्रवार को दयाराम सिंह के भाई पंकज सिंह ने गौतम कुमार को फोन करके तेघरा थाना क्षेत्र बुलाया. गौतम बिना कुछ सोचे समझे बोलेरो किराए पर लेकर तगड़ा के लिए निकल गया झगड़ा जाने से पहले गौतम को दयाराम सिंह के भाई पंकज सिंह ने घेर लिया. इसके बाद पंकज सिंह ने गौतम को अपनी गाड़ी में बिठाया और गाड़ी के अंदर ही गौतम से मारपीट की. जिसके बाद पंकज ने गौतम की आंखों में तेजाब डाल दिया और गौतम को हनुमान चौक के नजदीक सड़क किनारे फेंक कर चला गया.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here