अध्यात्मिक गुरु श्री श्री रवि शंकर ने कहा, ‘बाबाओं पर नजर रखने के लिए बने रेगुलेटरी बोर्ड’

चंड़ीगढ़: कुछ सालों से भारत में ढ़ोंगी बाबा और गुरु अपने काले कारनामों कि वजह से जेल की हवा खा रहे है। बाबाओं द्वारा किए जा रहे काले कारनामों की वजह से लोगों का विश्वास उठता जा रहा है। ऐसा आध्यात्मिक गुरु श्री श्री रवि शंकर का यह कहना है। रवि शंकर ने कहा की बाबाओं और गुरुओं के पर नजर रखने के लिए एक रेगुलेटरी बोर्ड का बनना बहुत ही जरुरी है। रवि शंकर ने कहा की भारत के सभी मंदिरों, मस्जिदों, गुरुद्वारों और सभी धार्मिक स्थलों पर इस प्रकार का रेगुलेटरी बोर्ड होना चाहिए। आपको याद ही होगा कि सिरसा डेरा प्रमुख राम रहीम, आसाराम सहित कई धर्म गुरु इन दिनों जेल की हवा खा रहे हैं।

shri shri ravi shanker

पत्रकारों ने जब श्री श्री रवि शंकर से पूछा की आजकल सभी बाबा और धर्म गुरु बिजनेसमैन बनते जा रहे हैं। पत्रकारों के इस प्रश्न का उत्तर देते हुए कि उन्होंने कहा कि ऐसा कुछ भी नहीं है। उन्होंने कहा कि कोई भी बाबा या गुरु व्यपारी नहीं बन सकता है, आपको बस यह देखना है की वह उन पैसों से क्या कर रहा है, अगर कोई बाबा उन पैसों से भौतिक सुख उठा रहा है तो यह बिल्कुल गलत है और वह उन पैसों से गरीब जनता की मदद कर रहा है तो यह बहुत अच्छी बात है।

गौरतलब है कि खुद श्री श्री रवि शंकर का अपने खुद के उतपाद है, वह सौंदर्य से लेकर खाने पीने की चीजों तक सब कुछ मुहैया कराते हैं। राम मंदिर के मुद्दे पर बोलते हुए उन्होंने कहा कि उन्हे किसी राजनीतिक पार्टी ने इसके लिए नहीं उकसाया है। मुझे दोनों ही धर्म के लोगों ने इस पर बातचीत करने के लिए कहा है और में किसी पार्टी का समर्थन नहीं करता हूं। मुझे लगता है कि इस मसले पर दोनों ही समुदाय के लोग बातचीत कर फैसला कर सकते है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here