पंजाब: गन्ने के रेट नहीं बढ़ने से गुस्साएं किसान, आंदोलन की दी चेतावनी

पंजाब में गन्ने की पिराई शुरू होने वाली है ऐसे में सरकार ने यह साफ कर दिया है कि इस बार गन्ने के रेटों को नहीं बढ़ाया जाएगा। सरकार के इस फैसले के बाद भड़के किसान संगठनों ने आंदोलन की तैयारी भी शुरू कर ली है। जानकारी है कि अब किसान संघर्ष कमेटी ने बुधवार को लुधियाना जालंधर नेशनल हाईवे पर जाम लगाने की चेतावनी दे दी है।

पंजाब में गन्ने का रेट 285 से ₹300 प्रति क्विंटल हैं। पड़ोसी राज्य हरियाणा ने इस बार गन्ने के रेट बढ़ाकर ₹320 और उत्तर प्रदेश में ₹325 कर दिया है। जिसके बाद किसान संगठन कम से कम ₹10 प्रति कुंतल रेट बढ़ाने की मांग कर रहा है। किसानों को कहना है कि केंद्र सरकार ने पिछले साल ₹5 क्विंटल पर बनाए थे। इसी बीच मजदूर की मजदूरी ₹25 प्रति क्विंटल बढ़ गई है।

आंदोलन की दी चेतावनी 

बुधवार से गुरदासपुर की पीडी चीनी मिल में गन्ने की पिराई शुरू होनी थी लेकिन किसान संघर्ष कमेटी ने बुधवार से आंदोलन का ऐलान किया है जिस कारण पिराई को रोक दिया गया है। लेबर ना मिलना भी पिराई रुकने की बहुत बड़ी वजह है। इस मामले में संघर्ष कमेटी के प्रधान मनजीत सिंह राय ने कहा है कि पंजाब में गन्ने का रेट सभी राज्यों से कम है कुछ साल पहले ही हरियाणा के रेट यहां से कम थे और सरकार के इस रवैए को देखते हुए बुधवार को लुधियाना-जालंधर नेशनल हाईवे स्थित चहेडू़ पुल पर दिन भर जाम लगाया जाएगा। अगर अगर सरकार ने समय के अंतराल में कोई आश्वासन दिया तो जाम को हटा दिया जाएगा नहीं तो यह अनिश्चितकाल तक बढ़ा दिया जाएगा।

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here