धुंध के कारण पंजाब में हुए कई सड़क हादसे, तीन लोगों की मौत

जालंधर: बढ़ती धुंध ने पंजाब में भी अपना रुप दिखा ही दिया है। सोमवार की सुबह पंजाब की सड़कों पर इस प्रकार धुंध छाई हुई थी की बिना लाईट के कुछ भी देख पाना बहुत ही मुश्किल हो रहा था। इसी के कारण संगरुर में भगवानगढ़-पटियाला रोड पर दो वाहनों के बीच टक्कर हो गई टक्कर इतनी भयानक थी की मौके पर ही एक व्यक्ति की मौत हो गई साथ ही नौ लोग गंभीर रुप से घायल हो गए। खन्ना में भी नेशनल हाइवे पर दो तेज रफ्तार वाहनों टक्कर हुई जिसनें दो लोगों की मौके पर ही मौत हो गई और 6 लोगों गंभीर रुप से चोटें आई है। घायल हुए व्यक्तियों को खन्ना के सिविल अस्पताल में भर्ती करवाया गया है।

दूसरा मामला भी संगरुर के भवानूगढ़ के पास के गांव चन्नों का जहां धुंध ज्यादा होने के कारण एक स्कूल बस सड़क के किनारे खड़े हुए ट्रक से टकरा गई और इस हादसे में बस के अन्दर मौजूद छात्रों में से 8 छात्र गंभीर रुप से घायल हो गए। घायल हुए छात्रों को पटियाला के राजिंदरा अस्पताल में भर्ती कराया गया है। पिछले साल की तरह इस साल भी घुंध के कारण सड़क पर चलना बहुत मुश्किल हो गया है। धुंध के कारण यातायात भी प्रभावित हो गया है।

बीते रविवार को फिरोजपुर रेलवे मंडल की 12 ट्रेने पांच-पांच घंटे लेट हुई और वहीं पटियाल से होकर गुजरने वाली 18 ट्रेने दूसरे दिन भी देरी से चल रही है। लंबी दूरी तय करने वाली ट्रेने 5 से 7 और पैसेंजर ट्रेने 2 से 3 घंटे लेट चल रही हैं। लुधियाना में विंटर शेड्यूल जारी होने के बावजूद सभी फ्लाइट रद होने का मामला जारी है। गुरुपर्व पर प्रदूषण थोड़ा कम रहा दिवाली गुजरने के बाद पंजाब की वायु में प्रदूषण स्तर में बहुत सुधार आया है। अमृतसर 2011 में गुरुपर्व पर यहां की वायु की क्वालिटी इंडेक्स 370 आरएसपीएम था और यह हर वर्ष 277 दर्ज किया जाता है। लुधियाना में पहले यह 489 था जो इस बार 321दर्ज किया गया है और वहीं सामान्य दिनों में अमृतसर का एयर क्वालिटी इंडेक्स 200 ईआरएसपीएम तक ही रहता है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here