नशा तस्करी मामले में आप नेता खैहरा को हाईकोर्ट से मिली राहत

चंडीगढ़: ढाई साल पहले हेरोइन तस्करी के मामले में आम आदमी पार्टी के विधायक सुखपाल सिंह खैहरा को फाजिल्का जिला अतिरिक्त सत्र न्यायलय द्वारा समन करने व गैर जमानती वारंट जारी किए गए फैसले को खैहरा ने हाई कोर्ट में चुनौती दे दी है और वहीं हाई कोर्ट ने गैर जमानती वारंट पर रोक लगा कर खैहरा को इस कैस में बड़ी राहत दी है। जिसके बाद पंजाब सरकार से जवाब मांगा है। मामले की आखरी सुनवाई 9 नवंबर को होगी।

sukhpal singh khera

खैहरा ने गैर जमानती वारंट को रिकॉल करने के लिए फाजिल्का कोर्ट में अर्जी दी है, दायर की गई अर्जी पर सोमवार को ही सुनवाई होनी है। खैहरा ने हाई कोर्ट में दायर याचिका में बोला है की जिला अदालत को उनके खिलाफ मामला चलाने की इजाजत देना और समन करना गैर कानूनी है। यह मामला राजनीति से जुड़ा हुआ है। ट्रायल पूरा हो चुका है और मुख्य आरोपी को सजा भी दी जा चुकी है तो फिर कैसे आरोपी के खिलाफ मामला चलाया जा रहा है।

खैहरा ने हाईकोर्ट से विनती करते हुए कहा है की वो जिला अदालत के इस फैसले पर रोक लगाए और साथ ही फाजिल्का कोर्ट में लगाई गई अर्जी ने इसे राजनीतिक साजिश बताया है। पांच मार्च को दर्ज किए मामले में आरोपियों में भी उनका नाम नहीं था। पूरा मामला पांच मार्च 2015 में खैहरा के करीबी और भुलत्थ मार्केट के चेयरमैन गुरुदेव सिंह के साथ 10 लोगों को फाजिल्का पुलिस ने पाकिस्तान से सोना और हेरोइन तस्करी के मामले में गिरफ्तार किया था। गिरफ्तार हुए लोगों के पास से दो किलोग्राम हेरोइन, 24 सोने के बिस्कुट बरामद, एक पाक मोबाइल सिम और एक सफारी गाड़ी बरामद की थी। यह सरगना गुरुदेव फाजिल्का के रास्ते पाकिस्तान से हेरोइन मंगवाया करता था लेकिन पुलिस ने खैहरा के खिलाफ केस दर्ज नहीं किया था। हाईकोर्ट से खैहरा को राहत मिल गई है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here