रमजान के दौरान ऐसा रखें अपना खान-पान

जो लोग रमजान के पवित्र महीने में रोजा रखते हैं, उनके लिए पोषक आहार के साथ दिन की शुरुआत करना बेहतर होता है. जिससे उनका शरीर दिनभर ऊर्जावान बने रहें.

सहरी (अल सुबह):

तड़के खाए जाने वाली सहरी को कभी नहीं छोड़ें क्योंकि यह आपके लिए मुख्य भोजन है, जिस पर पूरा दिन आपका शरीर निर्भर रहता है. इसमें आप रात में भीगे बादाम आदि के साथ अपने दिन की शुरुआत कर सकते है या फलों के रस या दूध का सेवन कर भी अति लाभदायक है. अपने आप को दिनभर ऊर्जावान रखने के लिए उच्च-फाइबर वाला आहार जैसे सब्जियों के साथ पनीर/ चिकन/ अंडे के साथ मल्टीग्रेन वाली रोटी का सेवन करें. इसके अलावा आप ओट्स या म्लटीग्रेन आटे से बने स्टफ परांठे के साथ नॉन-स्टिक पैन पर बने पनीर या अंडे की भुरजी खाएं, जिससे दिनभर आपके शरीर को तृप्ति महसूस होगी.

इफ्तार (रात्रिभोज के समय)

शाम के समय सबसे पहले नमक और चीनी वाले एक गिलास नींबू पानी के साथ रोजा खोलें, जिससे आपके शरीर में पानी की कमी नहीं होगी. शाम के समय खजूर का सेवन जरूर करें. खजूर परंपरागत रूप से और स्वास्थ्य के लिहाज से भी महत्वपूर्ण होता है क्योंकि इसमें ऊर्जा स्रोत और कई महत्वपूर्ण पोषक तत्वों से मौजूद होते हैं. ध्यान रहें मधुमेह के रोगी न करें. मधुमेह के रोगियो को और जिन्हें लैक्टोस से समस्या है उन्हें खजूर के सेवन से बचना चाहिए. वे नियमित दूध के बजाय सोया मिल्क का सेवन कर सकते हैं. थोड़े अंतराल के बाद उचित रूप से आहार का सवेन करें, जिसमें ब्राउन राइस या उच्च फाइबर युक्त रोटी, ढेर सारा वेजिटेबल सलाद, लीन मीट, मछली या अंडा शामिल हो.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here