प्रेग्नेंट महिलाएं ना करें यह गलती, नहीं तो जाएगी जान

प्रत्येक साल पूरी दुनिया भर में करीबन 5.6 करोड़ गर्भपात असुरक्षित तरीके से होते हैं. जिससे हर साल कम से कम 22,800 महिलाओं को अपनी जान से हाथ धोना पड़ता है. यह पूरी जानकारी पिछले एक दशक में वैश्विक गर्भपात ट्रेंड्रर्स पर गुटमेचरर इंस्टिट्यूट की सबसे व्यापक रिपोर्ट में दी गई है. गर्भपात पर प्रतिबंध लगाने से महिलाओं को गर्भावस्था समाप्त करने से रोका नहीं जा सकता, बल्कि ऐसी स्थिति में गए अवांछित गर्भ को गिराने के लिए खतरनाक तरीकों का सहारा ले सकती हैं जिससे जोखिम बढ़ जाता है.

हार्ट केयर फाउंडेशन ऑफ इंडिया के अध्यक्ष पद्मश्री डॉ के के अग्रवाल ने कहा गर्भपात की उच्च दर के प्रमुख कारणों में से एक कारण यह भी है कि अनेक और अलग-अलग क्षेत्रों में लोगों को अच्छे गर्भनिरोधक नहीं मिल पाते हैं जिसकी वजह से अनचाहे गर्भ के मामले बढ़ जाते हैं. गर्भपात की जो गोलियां होती हैं वह प्रभावी हो सकती हैं बशर्ते उन्हें उचित तरीके से लिया जाए. कुछ महिलाओं को गर्भपात की गोलियां लेने का सही तरीका मालूम ही नहीं होता है, जो उनके लिए काफी खतरनाक साबित होता है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here