खराब लाइफस्टाइल आपको पहुंचा सकती हो अस्पताल

सीएसई की रिर्पाट ‘बॉडी बर्डन’ नाम से आई रिपोर्ट के मुताबिक पर्यावरण और स्वास्थ्य का एक गहरा नाता है जो कि आजकल इस भागती दौड़ती लाइफस्टाइल में फिट नहीं हो पाता है. जिसका असर आपके स्वास्थ्य पर पड़ता है. इस रिपोर्ट में एक बात बहुत ही स्पष्ट रुप से कही गई है कि नॉन कम्युनिकेबल डिसीज में होने वाली मौत कि 61 फ़ीसदी वजह खराब लोगों का खराब लाइफस्टाइल को माना गया है.

वर्ष 2005 से लेकर वर्ष 2015 तक दुनिया में मोटे लोगों की संख्या लगभग दोगुनी हो गई है. जिनमें करीब 20% महिलाएं हैं तो वहीं पुरुषों की भागीदारी 18 फ़ीसदी है. खराब लाइफस्टाइल का असर सबसे ज्यादा दिमाग पर पड़ता है. बात करें भारत की तो बीते साल भारत में कुल 150 मिलियन दिमाग के रोगी सामने आए थे, तो वही कैंसर के करीब 2 मिलियन केस सामने आए थे. जिसमें एक अनुमान के मुताबिक 20 फ़ीसदी केस ऐसे थे जिनमें खराब लाइफस्टाइल को जिम्मेदार माना गया था, मसलन अत्यधिक मात्रा में शराब, तंबाकू और अन्य जानलेवा चीजों का सेवन था. खराब लाइफस्टाइल से आपको डायबिटीज जैसी भयानक बीमारी भी हो सकती है, जो कि भारत में बहुत तेजी से बढ़ रही है. एक रिपोर्ट के मुताबिक वर्ष 2030 में भारत विश्व में सबसे सर्वाधिक डायबिटीज रोगियों को देश बन जाएगा. दिल की बीमारी होना खराब लाइफस्टाइल की एक वजह है. अगर आप भी स्वस्थ रहना चाहते हैं और दिल की बीमारी से दूर रहना चाहते हैं तो प्रतिदिन सुबह कम से कम आधा घंटा की सैर करें.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here