महिलाओं का बढ़ा कंडोम पर विश्वास, दर 2 फ़ीसदी से 12 पहुंची

स्वास्थ्य मंत्रालय की तरफ से करवाए गए इस सर्वे में पता चला है कि 15 से 49 साल की अविवाहित महिलाएं जोकि सेक्सुअली एक्टिव है, उनके बीच पिछले 10 साल में कंडोम का इस्तेमाल में बड़ी तेजी से इजाफा हुआ है. साल 2015-16 में कराए गए सर्वे के मुताबिक जहां पहले 2% कंडोम का इस्तेमाल होता था वही अब 12% तक हो गया है.

20-24 साल के बीच सेक्सुअली एक्टिव अविवाहित लड़कियों के बीच कंडोम का सबसे ज्यादा इस्तेमाल हुआ है. इस सर्वे में 8 में से 3 पुरुषों ने मारा है की गर्भनिरोध का पूरा ख्याल महिलाओं को रखना चाहिए, इस में पुरुष का कोई लेना देना नहीं है. इस सर्वे में एक अच्छी बात निकलकर सामने आई है वे यह है की 50 से 49 साल के बीच देश के करीब 99 फ़ीसदी शादीशुदा जोड़ों को गर्भनिरोधक के कम से कम 1 तरीके की जानकारी अवश्य है. इस सर्वे के दौरान पता चला है कि अब भी बड़ी संख्या में महिलाएं अभी गर्भनिरोधक के कई पुरानी सदियों के तरीके जैसे मासिक धर्म आवर्तन या संबंध-विच्छेद पर निर्भर हैं. इस सर्वे में 61 प्रतिशत पुरुषों ने कंडोम पर भरोसा जताया और माना कि अगर कंडोम का सही तरीके से इस्तेमाल किया जाए तो यह ज्यादातर अनचाही प्रेगनेंसी से सुरक्षा प्रदान करता है. वहीं 25% पुरुषों का मानना था कि अगर कंडोम का सही तरीके से भी इस्तेमाल किया जाए तो भी ये कई बार प्रेगनेंसी से सुरक्षा प्रदान नहीं कर पाता है.

आपको बता दें कि इस सर्वे के दौरान यह भी पता चला है कि देशभर में आधुनिक गर्भनिरोधक के तरीकों को इस्तेमाल करने वालों में 65% सिख और बौद्ध धर्म की महिलाएं सबसे आगे हैं, जबकि मुस्लिम महिलाओं को प्रतिशत सिर्फ 38 फ़ीसदी है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here