Army Bharti News: कोरोवा वायरस महामारी के चलते पिछले दो सालों में थल सेना में भर्ती रैलियों का आयोजन नहीं हुआ है. All India Defense brotherhood पंजाब चैप्टर के अध्यक्ष व आर्मी वेटरन ब्रिगेडियर (रि.) कुलदीप सिंह काहलो ने कसौली में पत्रकारों से बातचीत में कही की तकरीबन दो साल से भारतीय सेना में बंद पड़ी भर्तियों को सरकार जल्द खोले ताकि जिनकी उम्र पूरी कर रहे युवाओं को भर्ती होने का और देश सेवा का मौका मिल सके। यह जरुरी भी है क्योंकि हर साल हज़ारो जवान रिटायर भी हो रहे है। वे इन दिनों पंजाब, हरियाणा व हिमाचल का दौरा कर रहे हैं, क्योंकि इन तीनों राज्यों से सबसे ज्यादा युवा सेना में भर्ती होते हैं।

कुलदीप सिंह (kuldeep Singh) ने बातचीत में यह भी कहा कि सेना में भर्ती न होने की वजह से युवा तनाव में भी है। सबसे अहम ये है के उनकी सेना में भर्ती के लिए उनकी उम्र निकलती जा रही है। जो युवा कोरोना से पहले फिट घोषित किये गए थे उनको उम्र में छूट मिलनी चाहिए थी। युवाओं को रोजगार की भी जरुरत है और अन्य देशों का अभी का हाल देखते हुए इस समय भर्ती की सबसे ज्यादा जरूरत है।

हम केंद्र सरकार से मांग करते हैं कि भर्ती प्रक्रिया खोले और जिनकी उम्र पूरी हो रही है उनको छूट देनी चाहिए। उनके साथ दौरे पर कमलजीत कौर गिल ने भी कहा कि जितनी भी युवा लड़कियों ने भर्ती के लिए तैयारी की है, उसको देखते हुए भर्ती खोली जाए, ताकि युवाओं को रोजगार के साथ सेना को जवान मिल सके।

पिछले दो साल से सेना में क्यों नहीं हो रही है जवानों की भर्ती? संसद में केंद्र सरकार ने बताई थी वजह

रक्षा बलों मे भर्ती के संबंध में रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने एक प्रश्न के लिखित जवाब में कहा था कि कोविड महामारी के कारण थल सेना में भर्ती प्रक्रिया निलंबित कर दी गई. उन्होंने कहा था कि 2018-19 और 2019-20 में भारतीय थल सेना में क्रमश: 53,431 और 80,572 भर्तियां की गईं.

सिंह ने बताया था कि 2020-21 और 2021-22 में भारतीय नौसेना में क्रमश: 2,772 और 5,547 कर्मियों की भर्ती की गई. इसी प्रकार वायुसेना में 2020-21 और 2021-22 में क्रमश: 8,423 और 4,609 कर्मियों की भर्ती की गई.

Leave a comment

Your email address will not be published.