जापान का दुनिया को संदेश, यह रिश्ता है अटूट

 

दुनिया के सबसे ताकतवर मुल्क के राष्ट्रपति अपनी पहली ऐशिया यात्रा के पहले पड़ाव पार पहुंच चुके हैं। उनकी पहली यात्रा जापान से शुरू होकर फिल्पिंस में जाकर खत्म होगी। रविवार को राष्ट्रपति ट्रंप अपनी पत्नी मिलेनियम ट्रंप के साथ पहुंचे। जिसके बाद  स्टेट हाउस गए जहां पर उन्हें ‘ गॉड ऑफ ऑनर’ दिया गया।

donald trump and shizo abe

अवॉर्ड मिलने के बाद उन्होंने जापानी प्रधानमंत्री शीनजो अबे से वार्ता की। वार्ता से पहले अबे ने मीडिया को यह बताए की वे अमेरिकी राष्ट्रपति से नॉर्थ कोरिया और अन्य अंतरराष्ट्रीय मुद्दों पर अमेरिकी राष्ट्रपति से बात करेंगे। इस वार्ता के बाद राष्ट्रपति ट्रंप ने जापान के सम्राट आकिहितो और उनकी पत्नी साम्रा‌ज्ञी मिशिको मुलाकात की।

हालांकि इस मुलाकात के बाद चीन की नीद उड़ना तय है। जहां एक तरफ जापान नॉर्थ कोरिया के बढ़ते परमाणु कार्यक्रमों से चिंतित हैं तो वहीं दूसरी ओर चीन नॉर्थ कोरिया के साथ खड़ा नजर आता है। अमेरिका भी नॉर्थ कोरिया को कई बार कड़ी चेतावनी दे चुका है। बावजूद इसके नॉर्थ कोरिया के संकी तानाशाह किम जोंग उन पर इसका कोई असर नहीं हो रहा है। इस विवाद के पहले भी अमेरिका और चीन आमने सामने कई बार आ चुके है । बीते साल भी दक्षिणी चीन सागर पार टापू विवाद पर आमने सामने आ चुके हैं। बाद हद तक बड़ गई थी कि दोनों देशों के राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार को आपस में फोन पर बात करनी पड़ी थी। तब जा कर यह विवाद सुलझा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here